मेलानियाः मॉडलिंग से व्हाइट हाउस का सफर

हमारे देश में शासक की पत्नी कहां की है यह एक बहत अहम मुद्दा रहा है। जब सोनिया गांधी को प्रधानमंत्री बनाने की चर्चा चली थी तब नेताओं से लेकर जनता तक का एक वर्ग उनके विदेशी मूल के कारण उन्हें इस पद पर बैठाने का विरोध कर रहा था। मगर अब लगता है कि यह भारत तक ही सीमित नहीं है। भारत की यात्रा पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी मेलानिया ट्रंप भी अमेरिकी मूल की नहीं हैं। जब ट्रंप राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़े थे तब यह मुद्दा वहां भी उछाला गया था। समय का संयोग देखिए कि अब वे सपत्नीक भारत की आधिकारिक यात्रा पर आ रहे हैं पर भारत व अमेरिकी समाज में काफी अंतर है। मेलानिया ट्रंप अविभाजित यूगोस्लाविया अब के स्लोवेनिया से हैं। वे वहां के नोवा मेस्टो क्षेत्र में 26 अप्रैल 1970 को पैदा हुई थी।

अमेरिका की प्रथम महिला बनने से पहले मेलानिया अपने देश व यूरोप की जानी मानी फैशन मॉडल रह चुकी हैं। वे अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति की बीवी हैं। 1996 में न्यूयार्क आने से पहले उन्होंने इटली व फ्रांस के फैशन मॉडल के रुप में काम किया था। तब वे एक समारोह में डोनाल्ड ट्रंप से मिलीं जो कि तब के एक जाने माने बिल्डर व व्यापारी थे। ट्रंप ने उन्हें अपना फोन नंबर दिया। वे दोनों इतने करीब आ गए कि ट्रंप ने उन्हें अपने निजी जेट 757 विमान में मॉडलिंग करने की अनुमति दे दी। मेलानिया ट्रंप ने उनके इस विमान में जो मॉडलिंग की वह दुनिया भर में बहुत चर्चित हुई। ट्रंप के इस विमान में सोने का सामान लगा हुआ है व वे इसका इस्तेमाल निजी अय्याशी के लिए करते आए थे।

मेलानिया 2001 में अमेरिका की स्थायी नागरिक बनीं व 2005 में ट्रंप से शादी की। शादी करने के बाद 2006 में उनको अमेरिका नागरिकता मिली। वे वहां की पहली ऐसी प्रथम महिला हैं, जिसकी मातृभाषा अंग्रेजी नहीं है। वे किशोरावस्था से ही मॉडलिंग करने लगी थीं। उनके पिता कम्युनिस्ट पार्टी में थे व खुद को नास्तिक मानते थे। हालांकि शादी के बाद जब मेलानिया अपने पति के साथ सेन फ्रांसिस्को में मिलीं तो उन्होंने वैकल्पिक धर्म स्वीकार कर लिया। देखते ही देखते इटली व फ्रांस की फैशन पत्रिका में उनकी मॉडलिंग की तस्वीरें धड़ाधड़ छपने लगी। द वोग व जीक्यू पत्रिकाओं ने उनके सेक्सी चित्र छपने लगे। जीक्यू पत्रिका के जनवरी 2001 में छपी उनकी नग्न तस्वीरें बहुत चर्चित हुई। जब बाद में ट्रंप से उनकी पत्नी की इन तस्वीरों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मेलानिया बहुत सफल फैशन मॉडलों में से हैं।

वैसे भी मेलानिया की इस तरह की तस्वीरें फैशन मॉडलों के लिए एक आम बात हैं। मेलानिया ने 2013 में अपनी ज्वेलरी, कपड़े व सौंदर्य प्रसाधनों का व्यवसाय शुरु किया। जब ट्रंप ने अपना राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव अभियान शुरु किया तो वे बाहरी लोगों के अमेरिका की नागरिकता दिए जाने के सख्त खिलाफ थे। तब उनके साथ प्रचार कर रहीं मेलानिया के भी विदेशी होने के बाद उनके वहां के नागरिक बनने का सवाल उठा। मेलानिया ने कहा कि उन्होंने कानूनी तरीकों से नागरिकता हासिल की है। जाने माने अखबारों ने खुलासा किया कि विजिटर वीजा पर अमेरिका आईं मेलानिया ने गैरकानूनी रूप से मॉडलिंग कर पैसा कमाया था। डोनाल्ड ट्रंप बाहरी लोगों के नागरिक बनने के बाद अपने माता पिता को वहां बुलाए जाने के सख्त खिलाफ थे मगर मेलानिया ने अपने मां-बाप को अमेरिका बुला लिया इसलिए भी ट्रंप की काफी आलोचना हुईं।

इससे पहले सितंबर 1999 में दोनों मिले तब ट्रंप के अपने दूसरी बीवी मार्ला से संबंध खराब हो चुके थे व दोनों के बीच तलाक की कार्रवाई चल रही थी। जब चुनाव प्रचार चल रहा था तो एक पत्रकार ने उनसे पूछा कि राष्ट्रपति भवन पहुंचने के बाद उनकी भूमिका क्या होगी तो उन्होंने कहा था मैं जैकलीन कैनेडी की तरह बहुत पारंपरिक रहूंगी। जब 22 जनवरी 2005 को दोनों की शादी हुई थी तो मेलानिया ने जानी मानी कंपनी क्रिश्चियन डायर द्वारा तैयार दो लाख डॉलर की कीमत वाली पोशाक पहनी हुई थी। अगले साल उन्होंने अपने बेटे विलियम ट्रंप को जन्म दिया। वे अमेरिकी राष्ट्रपति जॉन किंवसी एडम्स की पत्नी लुइसा एडम्स के बाद अमेरिका की दूसरी ऐसी प्रथम महिला हैं जो कि अमेरिका में पैदा नहीं हुई थीं।

जब ट्रंप ने गैरकानूनी रूप से अमेरिका आए लोगों को उनके बच्चों से अलग कर शिविरों में रखे जाने का आदेश दिए तो उन्होंने इसे एक सफल आव्रजन सुधार करार देने के साथ ही कहा था कि वे इस तरह के तरीके के खिलाफ हैं। उन्हें जैकलीन कैनेडी व नैंसी रीगन की तरह फैशनेबल प्रथम महिला माना जाता है, जिनके पास महंगे कपड़ों की भरमार है। वे अमेरिका की दूसरी कैथोलिक प्रथम महिला हैं। पहली प्रथम कैथोलिक महिला जैकलीन कैनेडी थीं। ट्रंप अपनी पत्नी से 24 साल बड़े हैं। मेलानिया लोगों से ज्यादा मिलना जुलना, साक्षात्कार देना पसंद नहीं करती हैं। ट्रपं की दो तलाकशुदा पत्नियां थीं व किस्मत का खेल देखिए कि उनकी तीसरी पत्नी अमेरिका की पहली महिला बनीं।

जब ट्रंप के चुनाव प्रचार के दौरान मेलानिया से एक पत्रकार ने उनका जन्म प्रमाणपत्र मांगा तो उन्होंने कहा कि क्या आपने बराक ओबामा से उनका जन्म प्रमाणपत्र मांगा था जो मेरा मांग रहे हैं। जब प्रथम महिला बनने के पहले एक रेडियो जॉकी हावर्ड स्टर्न ने मेलानिया से फोन पर पूछा कि आपने क्या कपड़े पहने हुए हैं तो उन्होंने जवाब दिया ‘ज्यादा नहीं’। उनका मानना है कि हवाई यात्रा का सबसे रोमांचक क्षण 30 हजार फीट की ऊंचाई पर सेक्स का आनंद लेना था। भारत में लोग प्रसन्न भी रहते होंगे यह मेलानिया के लिए बड़ा सवाल है। यहीं वजह है कि वे अपने दो दिवसीय भारत यात्रा के दौरान दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में प्रसन्नता वाली कक्षा देखने जाएंगी। इस हैप्पीनेस क्लास में बच्चों को प्रसन्न रहना सिखाया जाता है। कई बार मुझे लगता है कि इस देश के राजधानी की गंदगी, दूषित वायु व पानी की खबरें पढ़ कर अमेरिकी राष्ट्रपति की पत्नी को यह लगने लगा होगा कि देखें कि क्या इस देश में इतनी अहम कमियों व मुसीबतों के बावजूद आम आदमी खुश रह सकता है?

One thought on “मेलानियाः मॉडलिंग से व्हाइट हाउस का सफर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares