रूस पर फिर प्रतिबंध

रूस का झंडा एक बार फिर ओलंपिक में नहीं दिखेगा। 2016 में भी ऐसा हुआ था। एक बार फिर मादक पदार्थों की निगरानी वाली एजेंसी वाडा ने रूस पर 2020 के ओलंपिक खेल समेत अगले चार साल तक किसी भी अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता में हिस्सा लेने पर प्रतिबंध लगा दिया है। उसने रूस डोपिंग संबंधित डेटा से छेड़छाड़ का दोषी ठहराया है। स्विट्जरलैंड के लुसाने में हुई कार्यकारी बैठक में ये फैसला लिया गया।

वाडा ने रूस को टूर्नामेंट के लिए होने वाली बोली से तो बाहर कर ही दिया है, साथ ही रूस के अधिकारियों के बड़े आयोजनों में आने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए दावेदारी पेश करने का मौका भी रूस खो चुका है।

वाडा ने कहा कि वाडा की कार्यकारी समिति ने रुस की डोपिंग एजेंसी के गैर अनुपालन करने पर चार साल का प्रतिबंध सर्वसम्मति से पारित किया है। रूस के वे खिलाड़ी अगले साल होने वाले ओलंपिक में भाग ले सकते हैं, जो साबित कर सकें कि वे रुस-प्रायोजित डोपिंग में शामिल नहीं थे। वाडा ने यह भी कहा कि इन खिलाड़ियों को साबित करना होगा कि वे डोपिंग के गैर अनुपालन में शामिल नहीं थे या इनके सैम्पलों के साथ गड़बड़ियां नहीं की गई थी। वाडा ने 2015 में रूसी एथलीटों पर सामूहिक डोपिंग के आरोपों की जांच की थी।

इसे भी पढ़ें :-सरकार का इकबाल ही कहां बचा है

वाडा की रिपोर्ट के मुताबिक 2014 के सोची ओलंपिक से लेकर 2018 में हुए फुटबॉल विश्व कप मुकाबले तक में रूस ने कई स्तरों पर खेल की दुनिया को धोखा दिया। 2016 में प्रकाशित रिचर्ड मैकलॉरेन की स्वतंत्र रिपोर्ट में रूस पर आरोप था कि 2011 से 2015 के बीच सरकार प्रायोजित डोपिंग की गई।

इस रिपोर्ट के प्रकाशित होने के बाद रुस की डोपिंग रोधी एजेंसी- रुसाडा को तीन साल के लिए बैन कर दिया गया था। सितंबर 2018 में वाडा ने इस शर्त पर रूस को फिर से बहाल कर दिया था कि वे मॉस्को की लैब से डोपिंग संबंधी पूरा डेटा बिना किसी काटछांट के मुहैया करवाएंगे। लेकिन रूस ने वाडा की जांच को मानने से इनकार कर दिया। वाडा को विवादास्पद मास्को एंटी-डोपिंग प्रयोगशाला के डेटा बेस भी देखने नहीं दिया था। वाडा की मदद करने के लिए रुसाडा के पास 2018 के अंत तक का वक्त था। लेकिन अब 2019 के अंत में जाकर वाडा ने रूस के खिलाफ कार्रवाई की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares