आने से पहले कड़वाहट

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के भारत यात्रा का क्या मकसद है और इससे क्या हासिल होगा, इस पर संदेह के बादल मंडरा रहे हैं। आरंभिक तमाम संकेतों के मुताबिक ऐसा लगता है कि यह ट्रंप और नरेंद्र मोदी का व्यक्तिगत आयोजन है। इससे वे अपने-अपने देशों में सियासी लाभ उठा पाएंगे। मगर इससे भारत और अमेरिका को क्या मिलेगा, यह साफ नहीं है। भारत आने के पहले ट्रंप का स्वर तीखा रहा। व्यापार पर कड़े बोल बोले। उनके अधिकारी ने यह भी कह दिया कि अमेरिकी राष्ट्रपति भारत में नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और कश्मीर मसलों पर बात करेंगे। सवाल यह है कि भारत के घरेलू मामलों में वे बात क्यों करेंगे? सवाल यह भी है कि भारत सरकार ने इसका करारा जवाब क्यों नहीं दिया? यह सच है कि राजनीति और सुरक्षा के मामलों में बड़ा सहयोग कर रहे भारत और अमेरिका एक दूसरे को आयात शुल्कों से चोट पहुंचाते हैं। पिछले महीने ही दोनों देशों के बीच कठिन बातचीत के बात एक छोटा कारोबारी समझौता तो हुआ, लेकिन जानकारों के राय में वह बस नाम का ही है। इसलिए कि अमेरिका भारत के विशाल पॉल्ट्री और डेयरी बाजार तक पहुंचना चाहता है। साथ ही अमेरिकी कारोबारी स्टेंट जैसे मेडिकल उपकरणों की कीमतों पर नियंत्रण और स्थानीय रूप से डेटा को स्टोर करने जैसे कदमों को अपने व्यापार के लिए खर्च बढ़ाने वाला मानते हैं। इधर भारतीय प्रधानमंत्री 2019 में वापस ली गईं व्यापार छूटों को बहाल करने के साथ ही अमेरिका बाजार को भारतीय दवाओं और कृषि उत्पादों के लिए खुलवाना चाहते हैं। सबसे ऊपर भारत का यह कहना है कि अमेरिका भारत के साथ चीन वाला बर्ताव ना करे जिसकी अर्थव्यवस्था भारत से कई गुना बड़ी है। उधर लास वेगस में एक कार्यक्रम के दौरान ट्रंप ने कहा- ‘हम भारत जा रहे हैं और हम वहां बड़े समझौते कर सकते हैं। शायद हम इसे धीरे धीरे करें, हम इसे चुनाव के बाद करेंगे।’ इससे दोनों देशों के बीच मौजूद मतभेदों पर रोशनी पड़ी। आज भारत- अमेरिका संबंधों का यही सच है। मुमकिन है कि मोदी-ट्रंप संबंधों की हकीकत इससे अलग हो। तभी अहमदाबाद में लाखों लोगों के साथ ट्रंप का स्वागत करने की इतनी बड़ी तैयारी की गई है। इससे ह्यूस्टन में हाउडी मोदी का माहौल एक बार फिर बनेगा। लेकिन तब कुछ हासिल नहीं हुआ था, तो अब होगा इसकी संभावना नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares