मुद्दे तो अब साफ हैं

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान होने में अब एक हफ्ते से भी कम वक्त है। कोरोना महामारी के बावजूद प्रचार जोरों पर है। राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीद जो बाइडेन के बीच परंपरागत बहसें हो चुकी हैं। अब ये साफ है कि इस बार के नतीजे मुख्य रूप से चार मुद्दों से तय होंगे। बेशक इनमें पहला मुद्दा कोरोना महामारी ही है। अमेरिका में कोविड-19 वायरस सवा से भी अधिक लोगों की जान ले चुका है। खुद राष्ट्रपति ट्रंप संक्रमित हो चुके हैं। राष्ट्रपति ट्रंप ने महामारी से निपटने में कैसा प्रदर्शन किया, इसे लेकर लोगों की राय उनकी राजनीतिक सोच से जुड़ी दिखी है। बहरहाल, जानकारों की राय है कि यह चुनाव पिछले आठ-नौ महीनों में कोरोना के मामले में ट्रंप के प्रदर्शन पर जनमत संग्रह होगा। ट्रंप समर्थक कंजरवेटिव खेमे का मानना है कि ट्रंप के कदमों के बिना हालात और खराब होते। वहीं उदारवादी खेमे की राय कि अगर प्रशासन जल्दी हरकत में आया होता, वैज्ञानिकों की बात की सुनी गई होती और सख्ती से पाबंदियां लागू करवाई होतीं, तो हजारों जानें बचाई जा सकती थीं।

कोरोना की मार अर्थव्यवस्था पर भी पड़ी है। ये मुद्दा भी अमेरिकी वोटरों के लिए बेहद अहम है। महामारी के फैलने से पहले अर्थव्यवस्था अच्छे हाल में थी। लेकिन मार्च में लॉकडाउन के शुरु होते ही पूरे देशे में छोटे कारोबारियों का कामकाज बंद हो गया और अप्रैल के मध्य तक आते आते 2.3 करोड़ अमेरिकी काम से बाहर हो गए। इसके बावजूद राष्ट्रपति ट्रंप वोटरों से अपील कर रहे हैं कि अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाने के लिए वही सबसे सही प्रत्याशी हैं। तीसरा मुद्दा नस्लभेद का है। पिछले मई में मिनियापोलीस शहर में पुलिस के हाथों जॉर्ज फ्लॉयड नामक अश्वेत व्यक्ति की मौत ने देश में ब्लैक लाइव्स मैटर्स के आंदोलन में फिर से जान फूंक दी थी। अमेरिका में नस्लीय तनाव और हिंसा का काफी लंबा इतिहास रहा है, लेकिन इस बार ना केवल अश्वेत बल्कि श्वेत अमेरिकी भी पुलिस हिंसा के अलावा देश में फैले नस्लवाद के खिलाफ साथ सड़कों पर उतरे दिखाई दे चुके हैं। इसके अलावा गर्भपात के अधिकार का मुद्दा हमेशा अमेरिका में अहम रहा है। ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी इस पर नियंत्रण लगाना चाहती है। अब देखने की बात है कि क्या इसके लिए ट्रंप को फिर से जनादेश मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares