nayaindia Bihar politics बिहार में गठबंधन टूट के करीब
Trending

बिहार में गठबंधन टूट के करीब

ByNI Desk,
Share

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रविवार को इस्तीफा दे सकते हैं। उन्होंने रविवार की सुबह अपने आवास एक, अणे मार्ग पर अपने विधायकों की बैठक बुलाई है, जिसके बाद वे मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे सकते हैं। जानकार सूत्रों का कहना है कि इसके बाद एनडीए विधायक दल की बैठक होगी, जिसमें नीतीश को नेता चुना जाएगा और वे राज्यपाल से मिल कर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। बताया जा रहा है कि रविवार की शाम तक या सोमवार की सुबह वे आठवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। उनके साथ भाजपा की ओर से दो उप मुख्यमंत्रियों के शपथ लेने की संभावना है। भाजपा ने भी रविवार को सुबह नौ बजे सभी विधायकों को पार्टी कार्यालय में बुलाया है।

इससे पहले नीतीश के शनिवार को ही इस्तीफा देने की चर्चा जोरों पर थी। उनके विधायकों की बैठक शनिवार को शाम सात बजे होने वाली थी। लेकिन बाद में इसे टाल दिया गया। बैठक रविवार को सुबह 10 बजे होगी। दूसरी ओर शनिवार को एनडीए के दो घटक दलों भाजपा और हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के विधायक दल की बैठक हुई। दोनों पार्टियों के विधायकों ने बैठक के बाद पार्टी के नेताओं ने गठबंधन बदलने और नीतीश के साथ आने का संकेत दिया। शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पार्टी के वरिष्ठ मंत्रियों- संजय झा, अशोक चौधरी, विजय चौधरी आदि के साथ बैठक की।

उधर भाजपा विधायक दल की बैठक से बाहर निकल कर केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने बदलाव का संकेत देते हुए कहा- राम की कृपा से सब काम हो रहा है। सेकुलर की बात हो रही है। बढ़े चलो, बढ़े चलो, सुपथ पर बढ़े चलो, भला हो जिसमें देश का वह सब काम किए चलो। हालांकि बैठक के बाद राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने सरकार में शामिल होने के सवाल को टाल दिया। हालांकि उन्होंने कहा कि पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व जो भी फैसला करेगा उसका पालन किया जाएगा। एक दिन पहले शुक्रवार को उन्होंने भी नीतीश कुमार के साथ आने का संकेत देते हुए कहा था कि राजनीति में कभी दरवाजा हमेशा के लिए बंद नहीं होता है। कभी दरवाजा खुल भी जाता है। गौरतलब है कि सुशील मोदी के भी उप मुख्यमंत्री बनने की चर्चा चल रही है।

शनिवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के आवास पर उनकी पार्टी हिंदुस्तान आवाम मोर्चा की एक अहम बैठक हुई। इसमें सारे विधायक भी शामिल हुए। बैठक के बाद राष्ट्रीय प्रवक्ता श्याम सुंदर शरण ने बताया कि मांझी ने सभी नेताओं से कह दिया है कि पार्टी एनडीए के साथ ही रहेगी। श्याम सुंदर शरण ने कहा- सभी विधायकों का एक मत है कि पीएम मोदी जहां जाएंगे, हम वहीं रहेंगे। एनडीए से निकल कर राजद के साथ जाने की अटकलों पर मांझी के बेटे संतोष सुमन ने भी विराम लगाया और कहा कि पार्टी एनडीए में ही रहेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें