nayaindia Tips To Math Temple Management of 30 Countries 30 देशों के मठ मंदिर प्रबंधन को टिप्स देंगे भागवत
News

30 देशों के मठ मंदिर प्रबंधन को टिप्स देंगे भागवत

ByNI Desk,
Share

Rudraksh Convention Center :- विश्व के अनेक देशों में फैले हिंदू धर्म के मठ मंदिर से जुड़ी जानकारियां काशी से मिलने जा रही हैं। इसके लिए प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 22 से 24 जुलाई के बीच दुनिया के मंदिरों का सम्मेलन आयोजित होगा। जिसमें मंदिर प्रबंधन के टिप्स संघ प्रमुख भागवत देंगे। टेंपल कनेक्ट के संस्थापक गिरेश कुलकर्णी ने बताया कि यह कार्यक्रम 22 से लेकर 24 जुलाई तक काशी के रुद्राक्ष कनवेशन सेंटर में आयोजित होगा। 22 जुलाई को कार्यक्रम की शुरुआत संघ प्रमुख मोहन भागवत करेंगे। उन्होंने बताया कि यह कार्यक्रम टेंपल कनेक्ट और अंत्योदय नामक संस्था करवा रही है। 

इसमें मंदिरों के प्रबंधन, संचालन प्रशासन के विकास, सशक्तीकरण के बारे मंथन होगा। उन्होंने बताया कि मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए हम क्या क्या अच्छी सुविधा दे सकते हैं, इस पर भी विचार होगा।सम्मेलन का आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के आलावा विभिन्न मंदिरों के न्यासी, त्रावणकोर का राजकुमार (पद्मनाभस्वामी मंदिर), गोवा के पर्यटन मंत्री रोहण ए. खुन्ते, तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम के कार्यकारी अधिकारी धर्म रेड्डी भी शामिल रहेंगे। उन्होंने बताया कि इसमें भारत के तमाम मठ मंदिर के लोग शामिल होंगे। कार्यक्रम में करीब 30 देशों के 750 से ज्यादा मंदिरों के पदाधिकारी हिस्सा लेंगे। हिंदू के साथ ही सिख, बौद्ध और जैन धर्म से संबंधित मठ, मंदिर व गुरुद्वारों के पदाधिकारी भी आएंगे। 

गिरेश कुलकर्णी ने बताया कि सम्मलेन के दौरान मंदिर, मठ और गुरुद्वारों में आने वाले तीर्थयात्रियों के अनुभव, भीड़ प्रबंधन, ठोस कचरा प्रबंधन और बुनियादी सुविधाओं में सुधार जैसे विषयों पर चर्चा भी की जाएगी। सम्मेलन में हरित ऊर्जा, पुरातात्विक वास्तुशिल्प, लंगर प्रबंधन, प्रकाश व्यवस्था पर चर्चा होगी। तिरुपति बालाजी पूजास्थल के विशेषज्ञ पंक्ति प्रबंधन प्रणाली और वाराणसी के घाटों की सफाई व रखरखाव करने वाले सामाजिक संगठन के लोग भी शामिल होंगे। सत्रों को काशी विश्वनाथ मंदिर, महाकाल ज्योतिर्लिंग, अयोध्या राम मंदिर, पटना साहेब गुरुद्वारा के अलावा भी कई मंदिरों के लोग शामिल होंगे। (आईएएनएस)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें