Loading... Please wait...

पंचांग- 17 जुलाई, सोमवार    

शुभ विक्रम संम्वत 2074 साधारण नाम संवत्सर| सूर्य दक्षिणायन, शाके:1939  ।मु.मास-सव्वाल 23                                         ऋतु- वर्षा ऋतू, मास- श्रावण कृष्ण पक्ष  

 शुभ तिथि अष्टमी जया संज्ञक तिथि दोपहर 12 बज कर 05 मिनट तक तत्पश्चात नवमी तिथि आरम्भ। अष्टमी तिथि मे यथा आवश्यक विवाह आदी, मनोरंजन, लेखन, प्रवेश इत्यादि कार्य शुभ रहते है। अष्टमी तिथि मे जन्मे पुत्र या पुत्री धनवान,गुणवान,पराक्रमी होते है।अष्टमी तिथि को मास मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए।

अश्विनी "क्षिप्र" संज्ञक नक्षत्र रात्रि 11 बज कर 18 मिनट तक तत्पश्चात भरणी "उग्र-अधोमुख" संज्ञक नक्षत्र रहेगा| अश्विनी नक्षत्र मे विवाह ,यात्रा,विद्या इत्यादि कार्य सिद्ध होते है। अश्विनी नक्षत्र मे जन्म लेने वाला जातक धनी ,सरल स्वाभाव वाला,साहसी,प्रसिद्ध ,सुन्दर , धनवान, बुद्धिमान होता है| अश्विनी नक्षत्र गण्डान्त मूल संज्ञक नक्षत्र है अतः इस नक्षत्र मे जन्मे जातको को मूल शांति करवा लेनी चाहिये। 

चन्द्रमा सम्पूर्ण दिन मेष  राशि में संचार करेगा 

व्रतोत्सव - दूसरा श्रावण वन सोमवार व्रत।

 राहुकाल - प्रातः 7.30 बजे से 9 बजे तक

दिशाशूल - सोमवार को पूर्व दिशा मे दिशाशूल रहता है। यात्रा को सफल बनाने लिए घर से दूध पी कर निकले।

Tags: , , , , , , , , , , , ,

149 Views

आगे यह भी पढ़े

सर्वाधिक पढ़ी जा रही हालिया पोस्ट

बेटी को लेकर यमुना में कूदा पिता

उत्तर प्रदेश में हमीरपुर शहर के पत्नी और पढ़ें...

पाक सेना प्रमुख करेंगे जाधव पर फैसला!

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय और पढ़ें...

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd