Loading... Please wait...

बिहार में मांझी का प्रयोग फिर नहीं!

बिहार में लालू प्रसाद और नीतीश कुमार के बीच शह और मात का खेल चल रहा है। दोनों नेताओं ने अपनी अपनी चाल चल दी है। राजद और जदयू के जानकार सूत्रों का कहना है कि एक एक चाल दोनों सार्वजनिक रूप से चली है और एक एक चाल परदे के पीछे चली गई है। सो, अब इंतजार है कि अगली चाल में क्या होता है। लेकिन यह तय लग रहा है कि बाजी चाहे कोई जीत लेकिन जीतन राम मांझी किस्म का प्रयोग नहीं होगा। यानी यह नहीं होगा कि नीतीश मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ कर किसी और को कमान सौंपे या लालू अपने बेटे को हटा कर किसी और को उप मुख्यमंत्री बनाएं! 

नीतीश कुमार की पार्टी ने सार्वजनिक रूप से अपनी बैठक के बाद कहा कि आरोपी नेताओं को अपनी सफाई देनी चाहिए और अपने ऊपर लगे दाग धोने चाहिए। इसका मतलब यह था कि तेजस्वी यादव को इस्तीफा देना चाहिए। बताया जा रहा है कि इसके लिए जदयू की ओर से समय सीमा भी दी गई। चार दिन की पुरानी समय सीमा खत्म हो गई है और अब कहा जा रहा है कि 22 और 23 जुलाई को दिल्ली में होने वाली राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद इस बारे में फैसला होगा। 

लेकिन जानकार सूत्रों का कहना है कि तेजस्वी के इस्तीफे का दबाव बनाने के साथ साथ नीतीश कुमार की ओर से यह भी कहा गया है कि अगर तेजस्वी इस्तीफा नहीं देते हैं तो वे खुद पद छोड़ देंगे। उनकी पार्टी यह दांव चल सकती है कि महागठबंधन का नया नेता चुना जाए। लेकिन असल में यह सिर्फ दबाव बनाने की राजनीति है। इसी तरह यह कहा जा रहा है कि अगर तेजस्वी के इस्तीफे का दबाव बढ़ा तो लालू अपने सभी मंत्रियों का इस्तीफा करा कर बाहर से समर्थन देने की घोषणा कर सकते हैं। यह नीतीश के इस्तीफे वाले दांव की काट में चला गया है और राजद के सूत्रों का कहना है कि ऐसा असल में नहीं होगा। 

जाहिर है दोनों को चिंता है कि कुर्सी एक बार हाथ से निकली तो बड़ी मुश्किल से मिलेगी। नीतीश ने सबसे कमजोर चुन कर मांझी को कुर्सी दी थी। लेकिन उनके हाथ से इसे वापस लेने में उनके पसीने छूट गए थे। इसलिए दोनों बड़े और छोटे भाई यानी लालू प्रसाद और नीतीश कुमार आखिर तक सत्ता अपने हाथ में रखने की कोशिश करेंगे। मांझी वाला प्रयोग नहीं होगा, चाहे सरकार गिर जाए। 

Tags: , , , , , , , , , , , ,

300 Views

आगे यह भी पढ़े

सर्वाधिक पढ़ी जा रही हालिया पोस्ट

बेटी को लेकर यमुना में कूदा पिता

उत्तर प्रदेश में हमीरपुर शहर के पत्नी और पढ़ें...

पाक सेना प्रमुख करेंगे जाधव पर फैसला!

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय और पढ़ें...

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd