राफेल में और भी खुलासा होगा?

राफेल विमान सौदे में नया खुलासा हुआ है और जानकार सूत्रों का कहना है कि चुनाव से पहले इस मामले में कुछ और खुलासे होंगे। राफेल सौदा करने वाले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रास्वां ओलांद के एक बयान के बाद वहां मामला ठंडा पड़ा दिख रहा है पर असल में कहा जा रहा है कि वहां कई स्तर पर जांच चल रही है और अगले कुछ दिन में इस बारे में कुछ और खबरें आ सकती हैं। यह भी कहा जा रहा है कि जो राज कथित तौर पर पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के पास हैं उनका भी खुलासा हो सकता है। 

उससे पहले अंग्रेजी के अखबार द हिंदू ने एक बड़ा खुलासा किया है। अखबार ने खबर छापी है कि कैसे नवंबर 2015 में रक्षा मंत्रालय ने राफेल सौदे में प्रधानमंत्री कार्यालय के दखल का विरोध किया था। उस समय के रक्षा सचिव जी मोहन कुमार ने 24 नवंबर 2015 को एक चिट्ठी लिखी थी। तब के रक्षा मंत्री को संबोधित करते हुए उन्होंने हाथ से लिखा है- रक्षा मंत्री कृपया इसे देखें। प्रधानमंत्री कार्यालय के स्तर पर इस किस्म की बातचीत नहीं होनी चाहिए क्योंकि इससे हमारी वार्ता करने की स्थिति गंभीर रूप से प्रभावित होती है। 

इस चिट्ठी का लब्बोलुआब यह है कि रक्षा मंत्रालय और वायु सेना की एक सात सदस्यों की टीम फ्रांस से बात कर रही थी, जब प्रधानमंत्री कार्यालय ने इसमें दखल देना शुरू किया, जिससे भारत की वार्ता करने वाली टीम के अधिकार और उनकी स्थिति कमजोर हुई। यह चिट्ठी सामने आई है। सो, क्या ऐसी और भी चिट्ठियां हैं और इनमें से कुछ की कॉपी उस समय के रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के पास भी हैं? 

गौरतलब है कि पिछले दिनों कांग्रेस ने एक ऑडियो टेप जारी किया था, जिसमें पर्रिकर की गोवा सरकार के एक मंत्री दावा कर रहे हैं कि पर्रिकर ने कैबिनेट की बैठक में कहा कि राफेल के कुछ दस्तावेज उनके बेडरूम में पड़े हैं और इसलिए कोई उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकता है। हालांकि बाद में पर्रिकर और उनके मंत्री दोनों ने टेप को फर्जी बताते हुए इसका खंडन किया। बहरहाल, बताया जा रहा है कि पेरिस से लेकर पणजी तक वाया दिल्ली कई जगह राफेल के कुछ राज दबे पड़े हो सकते हैं, जो आने वाले दिनों में बाहर आएंगे। 

343 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।