nayaindia Comedian Shyam Rangeela की वाराणसी से मोदी के खिलाफ उम्मीदवारी
Politics

Comedian Shyam Rangeela की वाराणसी से मोदी के खिलाफ उम्मीदवारी

ByNI Desk,
Share

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नकल करते हुए अपने वीडियो के लिए जाने जाने वाले Comedian Shyam Rangeela ने कहा हैं की वह 2024 का लोकसभा चुनाव प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ वाराणसी सीट से लड़ेंगे। उत्तर प्रदेश की वाराणसी संसदीय सीट पर लोकसभा चुनाव 2024 के सातवें चरण में यानी 1 जून को होंगे। जिसके नतीजे 4 जून को घोषित किए जाएंगे।

Comedian Shyam Rangeela ने बुधवार, 1 मई को सोशल मीडिया पर लोकसभा 2024 के लिए वाराणसी सीट से अपनी उम्मीदवारी की घोषणा की हैं। 2014 और 2019 में दो बार इस सीट से जीतने वाले मोदी से 13 मई को वाराणसी से अपना नामांकन दाखिल करने की उम्मीद हैं।

राजस्थान के हनुमानगढ़ में जन्मे और पले-बढ़े रंगीला ने एनीमेशन का अध्ययन किया और आज वह अपने मिमिक्री कौशल के लिए जाने जाते हैं। खासकर राजनीतिक हस्तियों की। उन्हें टीवी पर ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ में कॉमेडियन के तौर पर भी देखा गया था।

उन्तीस वर्षीय Comedian Shyam Rangeela पहली बार 2017 में चर्चा में आएं। जब उनकी पीएम मोदी की मिमिक्री सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से लोकप्रिय हो गई थी। तब से रंगीला पीएम के भाषणों और इंटरव्यू की नकल करते हुए वीडियो बनाते रहते हैं।

Comedian Shyam Rangeela ने मोदी के अलावा राहुल गांधी जैसे कई राजनीतिक हस्तियों की भी मिमिक्री वीडियो बनाए हैं। पिछले कुछ समय से, रंगीला पीएम मोदी और उनकी नीतियों के आलोचक भी रहे हैं। जैसा उनके वीडियो से पता भी चलता हैं। अपनी उम्मीदवारी की घोषणा करने वाले वीडियो में भी कुछ हिस्से ऐसे थे, जहां पर रंगीला पीएम मोदी की आवाज की नकल करते हुए भी सुनाई दे रहे हैं।

1 मई को अपने चुनाव की घोषणा करते हुए वीडियो में रंगीला ने सूरत निर्वाचन क्षेत्र में भाजपा की निर्विरोध जीत और चंडीगढ़ मेयर चुनाव में विवाद का हवाला दिया। “मुझे लगता है कि ऐसा नहीं होना चाहिए कि वोट देने के लिए कोई अन्य उम्मीदवार ही न हो। अगर कोई व्यक्ति किसी उम्मीदवार के खिलाफ वोट करना चाहें तो उसे ऐसा करने का अधिकार हैं। उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट किए गए अपने वीडियो में कहा की किसी का नाम ईवीएम मशीन पर होना चाहिए।”

Comedian Shyam Rangeela ने पहली बार 2002 में आम आदमी पार्टी (आप) में शामिल होकर राजनीति में कदम रखा था। लेकिन बाद में उन्होंने स्वतंत्र रूप से काम करने का फैसला किया और कहा की वह अपने मालिक खुद हैं।

एक इंटरव्यू के दौरान रंगीला ने अपने कॉमेडी के काम पर लगाए गए प्रतिबंधों को एक महत्वपूर्ण मोड़ बताया और पीएम मोदी के समर्थक से लेकर निराश आलोचक तक के अपने सफर के बारे में भी बात की थी।

मोदी के मैदान में उतरने से वाराणसी सीट पर मुकाबला काफी प्रतीकात्मक हो गया हैं। कांग्रेस ने अपनी उत्तर प्रदेश इकाई के प्रमुख अजय राय को वाराणसी से मोदी मैदान में उतारा हैं। 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में राय तीसरे स्थान पर रहे थे।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी 2014 के लोकसभा चुनाव में वाराणसी सीट से दूसरे स्थान पर रह चुके हैं। अन्य उम्मीदवारों में ट्रांसजेंडर महामंडलेश्वर हेमांगी सखी भी उत्तर प्रदेश की एक हाई-प्रोफाइल सीट से चुनाव लड़ रही हैं।

यह भी पढ़ें: 

मोदी की आलोचना का मायावती खेला!

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रायबरेली से किया नामांकन

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें