कांग्रेस शासित राज्यों पर आप का निशाना

दिल्ली में आम आदमी पार्टी की जीत के बाद कांग्रेस बैकफुट पर है और कांग्रेस नेताओं को इस बात की चिंता है कि उसके शासन वाले राज्यों पर आप की नजर होगी। सबसे पहले आप के नेता पंजाब को लेकर अपनी रणनीति बनाएंगे। पिछले चुनाव में आप को पंजाब में अच्छी सफलता मिली थी। अगर ऐन चुनाव से पहले उसके बड़े नेता सुखपाल सिंह खैरा पार्टी छोड़ कर नहीं जाते और आप के पुराने नेताओं को एकजुट रखा गया होता तो नतीजे कुछ और हो सकते थे। कहा जा रहा है कि इस बार आप की रणनीति उन गलतियों को ठीक करने की है। तभी कांग्रेस को चिंता हो रही है। अगर आप ने पुराने नेताओं को लेकर पंजाब में राजनीति की तो कांग्रेस को मुश्किल होगी।

आप के नेताओं ने दिल्ली की जीत के तुरंत बाद साफ कर दिया है कि वे राजस्थान में स्थानीय निकाय का चुनाव लड़ेंगे। राजस्थान में शहरी और ग्रामीण दोनों स्थानीय निकायों का चुनाव होने वाला है। आप के लड़ने से लोकल समीकरण बदलेगा। हरियाणा में कांग्रेस विपक्ष में है पर वहां भी आप की वजह से समीकरण बदल सकता है। ध्यान रहे आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल हरियाणा के ही रहने वाले हैं। अब तक उनका दांव हरियाणा में नहीं चला है पर इस बार की जीत के बाद उनकी पार्टी वहां सक्रियता से राजनीति करेगी। चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ होने से भी आप की ताकत बढ़ी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares