AAP Party Kumar Vishwas आप से पीछा नहीं छूट रहा कुमार विश्वास का
राजरंग| नया इंडिया| AAP Party Kumar Vishwas आप से पीछा नहीं छूट रहा कुमार विश्वास का

आप से पीछा नहीं छूट रहा कुमार विश्वास का

AAP Party Kumar Vishwas

हिंदी कवि कुमार विश्वास अपने हर कार्यक्रम में बताते हैं कि राजनीति में उनकी टाइमिंग खराब रही। वे अन्ना हजारे के आंदोलन के सबसे लोकप्रिय चेहरों में से एक थे और आम आदमी पार्टी के संस्थापकों में शामिल थे। पर जब आप की सत्ता आई और कुछ देने की बारी आई तो अरविंद केजरीवाल ने सारे जाने-पहचाने और बड़े चेहरों को पार्टी से बाहर कर दिया। इससे आहत होकर कुमार विश्वास ने कई कविताएं भी लिखीं। अपने कार्यक्रम और सोशल मीडिया पोस्ट में केजरीवाल पर तंज भी करते रहते हैं। इसी तरह राष्ट्रवादी सोच के बावजूद भाजपा में भी उनकी बात बनी नहीं है। किसी जमाने में उन्होंने नरेंद्र मोदी की तारीफ में भी काफी कुछ कहा था। AAP Party Kumar Vishwas

Read also कोरोनाः यूरोप से भारत बेहतर

अब वे समाजवादी पार्टी से नजदीकी बढ़ा रहे हैं। अपने कुछ करीबी और चाहने वालों के सहयोग  से वे सपा नेतृत्व के करीब गए हैं और मुलायम सिंह यादव की तारीफ में लगे हैं। उन्होंने कहा है कि मुलायम सिंह उनके लिए व्यक्ति नहीं, बल्कि भावना का नाम है। वे सपा महासचिव रामगोपाल यादव की किताब के विमोचन में शामिल हुए और मंच से उनको सपा में शामिल करने की बात उठी। इधर उनकी सपा में शामिल होने की बात हुई और उधर आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह और दिलीप पांडेय ने अखिलेश यादव से मुलाकात की। अब सपा और आम आदमी पार्टी में तालमेल की बात चल रही है और कहा जा रहा है कि जल्दी ही इसकी घोषणा हो जाएगी। यह भी कहा जा रहा है कि दिल्ली से सटे एनसीआर के अलाके में आप को कुछ सीटें चाहिएं, जो सपा दे सकती है। अब सोचें, अगर सपा और आप का तालमेल हो गया तो कुमार विश्वास क्या करेंगे? क्या वे अपनी कड़वाहट भूल जाएंगे?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
दुनिया में मिले 31 लाख से ज्यादा केस
दुनिया में मिले 31 लाख से ज्यादा केस