असम भाजपा में सब ठीक नहीं! - Naya India
राजनीति| नया इंडिया|

असम भाजपा में सब ठीक नहीं!

असम में भारतीय जनता पार्टी के अंदर सब कुछ ठीक नहीं दिख रहा है। पार्टी के संकटमोचन और समूचे पूर्वोत्तर में भाजपा की जड़ मजबूती से जमाने वाले पूर्व कांग्रेस नेता हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा है कि वे अगले साल अप्रैल-मई में होने वाला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। सरमा का ऐसा कहना पार्टी के अंदर फूट का संकेत है।

उन्होंने जिस दिन से कांग्रेस छोड़ कर भाजपा ज्वाइन किया उस दिन से उनको राज्य में मुख्यमंत्री पद का दावेदार माना जा रहा है। पर चूंकि वे पिछले चुनाव से थोड़े दिन पहले ही भाजपा में गए थे इसलिए 2016 में पार्टी के पुराने नेता सर्बानंद सोनोवाल मुख्यमंत्री बने और सरमा को सरकार को नंबर दो की हैसियत मिली। पर वे ज्यादा समय तक इस हैसियत में नहीं रहना चाहते हैं। उनके करीबियों का कहना है कि नंबर दो की हैसियत तो उनकी कांग्रेस में भी थी।

पिछले दिनों इस बात की चर्चा हुई थी कि पार्टी हिमंता सरमा को मुख्यमंत्री का दावेदार बना सकती है। लेकिन अचानक कांग्रेस नेता तरुण गोगोई ने पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई का नाम उछालते हुए कहा कि वे भाजपा के मुख्यमंत्री पद के दावेदार हो सकते हैं। हालांकि ऐसा होना नहीं है पर सरमा को लग रहा है कि यह उनके खिलाफ साजिश है।

पार्टी सर्बानंद सोनोवाल को ही आगे रख कर चुनाव लड़ने वाली है और गोगोई का नाम किसी योजना के तहत आगे किया गया है। तभी सरमा ने चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा कर दी। इससे भाजपा नेतृत्व को उनके बारे में सोचना होगा। कहा जा रहा है कि वे चुनाव से पहले केंद्र सरकार में मंत्री बनाए जा सकते हैं। इसके लिए उनको कहीं से राज्यसभा में लाया जाएगा। राज्य के किसी सांसद को विधानसभा चुनाव लड़ा कर खाली सीट पर उपचुनाव कराने का भी विकल्प है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});