राजनीति| नया इंडिया| assembly elections uttarakhand BJP उत्तराखंड में भाजपा की चिंता

उत्तराखंड में भाजपा की चिंता

Politcs BJP Maharashtra Jharkhand

भारतीय जनता पार्टी ने उत्तराखंड में छह महीने में दो मुख्यमंत्रियों को हटाया। इसके बावजूद पार्टी भरोसे में नहीं है कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में वह अपने दम पर सरकार बना पाएगी। कांग्रेस की ओर से हरीश रावत को चुनाव अभियान समिति का प्रमुख बना कर अघोषित रूप से मुख्यमंत्री का दावेदार बनाने और आम आदमी पार्टी की ओर से पूर्व सैन्य अधिकारी अजय कोठियाल को मुख्यमंत्री का चेहरा बनाने के बाद भाजपा की चिंता बढ़ी है। उसे लग रहा है कि त्रिकोणात्मक संघर्ष हो सकता है, जिसमें राज्य में त्रिशंकु विधानसभा बन सकती है। आप नेता अरविंद केजरीवाल की ओर से बिजली, पानी फ्री करने या छह महीने में एक लाख नौकरी देने के वादे ने भी चुनाव को दिलचस्प बना दिया है। assembly elections uttarakhand BJP

Read also वैक्सीन का भेदभाव कैसे खत्म होगा?

तभी जानकार सूत्रों का कहना है कि भाजपा की ओर से पार्टी के प्रदेश नेताओं को कहा गया है कि वे हरीश रावत के ऊपर तीखे हमले न करें। रावत हालांकि कांग्रेस पार्टी के प्रतिबद्ध कार्यकर्ता और नेता हैं फिर भी भाजपा के कई नेताओं को लग रहा है कि त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति में वे भाजपा के काम आ सकते हैं। भाजपा को उनकी लोकप्रियता का भी अंदाजा है। भाजपा के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के मुकाबले वे मैदान से लेकर पहाड़ तक ज्यादा लोकप्रिय हैं। ठाकुर मतदाताओं के बीच भी उनका कद बहुत बड़ा है। इसलिए भी भाजपा ने अपने नेताओं को निर्देश दिया है कि वे रावत को निशाना न बनाए क्योंकि उससे ठाकुर मतदाता नाराज हो सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

विदेश

खेल की दुनिया

फिल्मी दुनिया

लाइफ स्टाइल

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Kartik Maas 2021 : कल से शुरू होगा कार्तिक का पवित्र महीना, भूलकर भी ना करें ये काम…