कांग्रेस ने अपना नुकसान किया - Naya India
राजनीति| नया इंडिया|

कांग्रेस ने अपना नुकसान किया

राम मंदिर निर्माण के लिए जमीन खरीदने में कथित घोटाले के मसले पर बयान देकर कांग्रेस ने अपना नुकसान किया है। कांग्रेस इस मामले में चुप रहती तो बेहतर होता क्योंकि इस पूरे मामले से उसका कोई लेना-देना नहीं है। यह समाजवादी पार्टी और भाजपा के बीच का मामला है। जमीन बेचने वाली पार्टी सपा नेताओं की करीबी है और खरीदने वाला ट्रस्ट भाजपा नेताओं के करीबियों का है। कांग्रेस इसमें कहीं नहीं है। कांग्रेस पहले भी इसमें कहीं नहीं थी। वह न तो मंदिर मामले में पक्षकार है और न उसके नेताओं ने मंदिर निर्माण के लिए बढ़-चढ़ कर चंदा दिया है। दिग्विजय सिंह और एकाध दूसरे नेताओं को छोड़ दें तो किसी कांग्रेस नेता ने मंदिर निर्माण में चंदा नहीं दिया है। लेकिन चंदे का हिसाब मांगने के लिए सब आगे आ गए।

यह भी पढ़ें: राम मंदिरः कांग्रेस चुप रहे तो बेहतर!

राम जन्मभूमि निर्माण क्षेत्र ट्रस्ट एक निजी ट्रस्ट है, जिसमें रामभक्तों ने चंदा दिया है उस चंदे से मंदिर के लिए जमीन खरीदी जानी है और निर्माण होना है। जिन लोगों ने चंदा दिया है वे चुप हैं और कांग्रेस के नेता हिसाब मांग रहे हैं! तभी उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि कुछ लोग हमेशा राम मंदिर को बदनाम करने का मौका खोज लेते हैं। कांग्रेस के बारे में यह धारणा पहले से बनी हुई है कि वह मंदिर निर्माण की विरोधी रही है। उसके नेताओं के ताजा बयान से यह संदेश गया है कि कांग्रेस ने अभी तक मंदिर विरोध छोड़ा नहीं है और वह किसी बहाने से इसे बदनाम करने में लगी है। अगर कांग्रेस के नेता यह सोच रहे हैं कि इससे उत्तर प्रदेश के मुसलमानों में अच्छा मैसेज जाएगा तो यह मूर्खों के स्वर्ग में रहने जैसा है। अव्वल तो जमीन खरीद का सौदा कोई घोटाला नहीं है। लेकिन अगर होता भी तो कांग्रेस को इस मामले में नहीं पड़ना चाहिए था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *