जिम्मेदारी लेने वालों पर मुकदमा - Naya India
राजनीति| नया इंडिया|

जिम्मेदारी लेने वालों पर मुकदमा

अयोध्या में छह दिसंबर को विवादित ढांचा टूटने के मामले में सीबीआई की विशेष अदालत आरोपियों के बयान दर्ज कर रही थी। लालकृष्ण आडवाणी से लेकर मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, कल्याण सिंह आदि सबने अपने बयान दर्ज कराए हैं और सबने एक ही बात कही। सबका कहना है कि उन्होंने विवादित ढांचा गिराने में कोई भूमिका नहीं निभाई। सबने कहा है कि कांग्रेस ने साजिश के तहत उनको फंसाया है। यह एक मानक बयान है, जो वकील ने तैयार किया होगा और सभी नेताओं ने विशेष अदालत के सामने दोहरा दिया। अब इसका अंत नतीजा क्या होगा, क्या फैसला आएगा, उस पर विचार करने की जरूरत नहीं है।

विचार इस पर होना चाहिए कि जो लोग इनकार कर रहे हैं उन पर मुकदमा चल रहा है और जो खुल कर स्वीकार कर रहा है कि हां हमने ढांचा गिराया उससे कोई पूछताछ ही नहीं कर रहा है? शिव सेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने पिछले दो हफ्ते में कई बार यह बात कही है। उन्होंने दो दिन पहले भी कहा है कि अयोध्या में राममंदिर निर्माण के रास्ते में एकमात्र बाधा विवादित ढांचा था, जिसे शिव सैनिकों ने गिराया। उन्होंने कहा कि भाजपा और संघ के भी सारे नेता जानते हैं कि सैनिकों ने ढांचा गिराया और राममंदिर निर्माण के रास्ते की बाधा दूर की। तो क्या संजय राउत को बुला कर इस बारे में नहीं पूछना चाहिए कि कौन कौन से शिव सैनिक थे और उन्हें किसने आदेश दिया था? यह विडंबना देखिए कि राममंदिर आंदोलन से जुड़े सारे चेहरे इस बात से इनकार कर रहे हैं कि ढांचा गिराने में उनकी कोई भूमिका थी और दूसरी ओर संजय राउत सीना ठोक कर श्रेय ले रहे हैं। और जिन लोगों पर न मुकदमा चल रहा है और न कोई श्रेय ले रहे हैं वे सब लोग शिलान्यास कर रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *