babul supriyo meeting nadda नड्डा ने क्या कहा बाबुल सुप्रियो से
राजनीति| नया इंडिया| babul supriyo meeting nadda नड्डा ने क्या कहा बाबुल सुप्रियो से

नड्डा ने क्या कहा बाबुल सुप्रियो से?

Babul supriyo meeting nadda पश्चिम बंगाल की आसनसोल सीट से भाजपा के सांसद बाबुल सुप्रियो ने फेसबुक पोस्ट लिख कर राजनीति से संन्यास लेने का ऐलान किया। चारों तरफ इसकी खबर हो गई। उन्होंने बहुत साफ तरीके से लिखा और कहा था कि वे लोकसभा से भी इस्तीफा दे देंगे और सरकारी बंगला छोड़ देंगे। उन्होंने कहा कि लोकसभा स्पीकर से मिलने का समय भी मांगा है। इसके बाद वे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने गए और उसके बाद कहा कि वे राजनीति से संन्यास ले रहे हैं लेकिन सांसद बने रहेंगे। अब सोचें, कि लोकसभा का कोई सांसद बिना राजनीति किए कैसे रह सकता है? राज्यसभा सांसद के बारे में कहा जा सकता है कि वह राजनीति किए बिना, लोगों से मिले-जुले बिना या कोई काम किए-कराए बगैर सांसद बना रह सकता है।

Read also नीतीश के नए तेवर पर सवाल

लेकिन लोकसभा का सांसद तो जन प्रतिनिधि होता है और उसे तो सक्रिय राजनीति में होना ही होगा। लेकिन ऐसा लग रहा है कि यह भी 70 साल में पहली बार होगा कि राजनीति से संन्यास लेकर भी कोई नेता लोकसभा सांसद बना रहेगा। बहरहाल, सवाल यह है कि नड्डा ने बाबुल सुप्रियो से क्या कहा, जो उन्होंने यू-टर्न ले लिया? क्या उनको किसी तरह की चेतावनी दी गई? चेतावनी दिए जाने की संभावना से इनकार नहीं है लेकिन जानकार सूत्रों का कहना है कि नड्डा ने उनको 2024 के लोकसभा चुनाव तक इस्तीफा नहीं देने को कहा है। कहा जा रहा है कि भाजपा किसी हाल में पश्चिम बंगाल में लोकसभा की सीट पर उपचुनाव नहीं चाहती है।

Read also ओड़िशा के समर्थन से राष्ट्रीय हॉकी

अगर लोकसभा सीट का उपचुनाव होता है और भाजपा हारती है तो उसका अगले लोकसभा चुनाव पर बड़ा असर होगा। दूसरे, अगले साल होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले भाजपा नहीं चाहती है कि विपक्षी सांसदों की संख्या बढ़े। तभी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में जीतने वाले दो सांसदों- निशित प्रमाणिक और जगन्नाथ सरकार ने लोकसभा से इस्तीफा नहीं दिया। उन्होंने विधानसभा की अपनी जीती हुई सीट छोड़ी। इसके उलट तमिलनाडु में अन्नाडीएमके के राज्यसभा सांसदों ने विधायक रहने के लिए राज्यसभा की सीट छोड़ी। जाहिर है भाजपा पश्चिम बंगाल में लोकसभा सीट पर उपचुनाव का जोखिम नहीं लेना चाहती है।

Read also क्षेत्रीय अभिनेता और भाजपा की राजनीति

Babul supriyo meeting nadda

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow