ममता चुनाव से पहले तोड़फोड़ करा सकती हैं

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा के ऊपर उसका ही दांव आजमाने की तैयारी कर रही है। जिस तरह से भाजपा हर चुनाव से पहले राज्यों में अपनी प्रतिद्वंद्वी पार्टियों को कमजोर करने के लिए उनके नेताओं को तोड़ती है। उसी तरह अगले साल के चुनाव से पहले ममता बनर्जी भी भाजपा में तोड़-फोड़ की तैयारी कर रही हैं। पिछले दिनों खबर आई थी कि मुकुल रॉय वापस जाने वाले हैं। हालांकि उन्होंने इससे इनकार किया। असल में वे भाजपा पर कुछ हासिल करने के लिए दबाव बना रहे हैं। पर उनके अलावा दूसरे लोगों पर भी तृणमूल नेताओं की नजर है।

पश्चिम बंगाल में भाजपा के कई नेताओं के टूटने की चर्चा है। खास कर ऐसे नेताओं के जो तृणमूल कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए हैं। इनमें कुछ सांसद भी हैं। हालांकि पश्चिम बंगाल के भाजपा प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने इस बात से इनकार किया है। उन्होंने कहा है कि भाजपा का कोई सांसद नहीं टूट रहा है। हो सकता है कि अभी नहीं टूट हो, लेकिन साल के अंत तक कुछ नेता टूट सकते हैं। पिछले दिनों उत्तरी बंगाल के एक मजबूत नेता बिप्लब मित्रा ने तृणमूल में वापसी की। वे पहले विधायक रहे हैं और कुछ समय पहले ही भाजपा में गए थे। ममता ने उनकी घर वापसी कराई है। ऐसे कई और नेताओं के बारे में कहा जा रहा है कि वे चुनाव से पहले ममता की पार्टी में वापसी करेंगे। ममता की नजर कांग्रेस और लेफ्ट की बजाय भाजपा को कमजोर करने पर है। माना जा रहा है कि अपने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर की सलाह पर वे यह काम कर रही हैं, वरना वे पहले कांग्रेस और लेफ्ट को ही कमजोर करने में लगी रहती थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares