बिहार की पार्टियों में तोड़-फोड़ शुरू

बिहार में साल के अंत में विधानसभा का चुनाव होने वाला है पर उससे पहले सारी पार्टियों ने अपना दम दिखाना शुरू कर दिया। पार्टी ने तोड़-फोड़ शुरू कर दी है। पिछले दिनों पारिवारिक झगड़े की वजह से लालू प्रसाद के समधि चंद्रिका राय राजद छोड़ कर जदयू में चले गए। कहा जा रहा है कि वे और उनकी बेटी यानी लालू प्रसाद की बहू ऐश्वर्या राय जदयू की टिकट से चुनाव लड़ सकते हैं। इस बीच जनता दल यू के दो नेताओं प्रशांत किशोर और पवन कुमार वर्मा को पार्टी से निकाल दिया गया। इनमें से एक प्रशांत किशोर ‘बात बिहार की’ नाम से अपना अभियान चला रहे हैं और जल्दी ही राजनीतिक दल बना सकते हैं।

खबर है कि जनता दल यू के एक विधायक महेश्वर यादव पाला बदलने वाले हैं। वे पिछले कुछ समय से पार्टी की नीतियों के विरोध के नाम पर राजद का गुणगान कर रहे हैं। जदयू के एक मुस्लिम विधायक और कुछ दूसरे मुस्लिम नेताओं के भी पाला बदलने की चर्चा है। इससे पहले राजद के एक बड़े मुस्लिम नेता एमए फातमी ने जदयू का दामन थाम लिया था। पर तब नागरिकता वाला मामला नहीं आया था। अब बदली हुई परिस्थितियों में वे क्या करेंगे, यह नहीं कहा जा सकता है। बताया जा रहा है कि चुनाव से पहले टिकट बंटवारे में मोलभाव की अपनी ताकत बढ़ाने के लिए सारी पार्टियां दूसरी पार्टियों से कुछ नेताओं को तोड़ेंगी। भाजपा भी यह काम करेगी और जदयू व राजद भी करेंगे। इससे अगले कुछ दिन में खास कर राज्यसभा और विधान परिषद के चुनाव के बाद बड़ी भगदड़ मच सकती है। राज्य में 26 मार्च को पांच राज्यसभा सीटों के चुनाव हैं और अगले दो महीने में विधान परिषद की 19 सीटों के लिए चुनाव होना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares