बिहार भाजपा का जिन्ना, आतंकवाद, पाक मुद्दा

बिहार में भारतीय जनता पार्टी का चुनावी मुद्दा स्पष्ट हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कामकाज का प्रचार तो अपनी जगह है पर असली मुद्दा जिन्ना, पाकिस्तान और आतंकवाद है। भाजपा के नेता इन मुद्दों पर ध्रुवीकरण की राजनीति करने लगे हैं। अपने विरोधियों को पाकिस्तान भेजने की बात करके मशहूर हुए नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कांग्रेस के एक प्रधानमंत्री को जिन्ना का भक्त बताया है।
दरभंगा की जाले सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी मशकूर उस्मानी का कसूर यह है कि वे अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से पढ़े हैं। कहा जा रहा है कि उन्होंने यूनिवर्सिटी की किसी इमारत से जिन्ना की फोटो हटाने का विरोध किया था। इस आधार पर पूरी कांग्रेस पार्टी को जिन्ना भक्त बताया जा रहा है। कांग्रेस भी इस दांव में फंस गई है और आडवाणी के जिन्ना प्रेम का मुद्दा उठा रही है।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा है कि अगर एनडीए बिहार में हारी तो कश्मीर से भागने वाले आतंकवादी बिहार में पनाह लेंगे। ऐसी बेतुकी बात का कोई मतलब नहीं है। बिहार कोई दूसरा देश नहीं है, जहां आतंकवादी पनाह लेंगे तो केंद्र की 56 इंची वाली सरकार, जिसमें खुद नित्यानंद राय गृह विभाग संभाल रहे हैं, चुपचाप देखती रहेगी। लेकिन उन्होंने यह बात कही। उनके इस बयान पर पार्टी को सफाई देनी पड़ी और सहयोगी पार्टी जदयू ने तो कहा कि इस तरह के बयानों से बचना चाहिए। पर गिरिराज सिंह को पीछे छोड़ने की होड़ में नित्यानंद राय इतने पर चुप नहीं हुए। उन्होंने फिर से कहा कि कुछ लोग पाकिस्तान की जीत पर जिंदाबाद के नारे लगाते हैं। इसका मतलब है कुछ भी हो जाए, जिन्ना, पाकिस्तान और आतंकवाद ही मुद्दा रहना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares