कांग्रेस नेतृत्व का मुद्दा फिर उठा - Naya India
राजरंग| नया इंडिया|

कांग्रेस नेतृत्व का मुद्दा फिर उठा

कांग्रेस अध्यक्ष को चिट्ठी लिख कर नेतृत्व का मुद्दा उठाने वाले 23 लोगों में शामिल रहे कपिल सिब्बल ने एक बार फिर पार्टी नेतृत्व का मुद्दा उठाया है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस पार्टी जरूरी मुद्दे नहीं उठा रही है, न तो जनता के मुद्दे और न पार्टी के अंदर के मुद्दों पर विचार हो रहा है। उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा और देश के कई राज्यों में हुए उपचुनावों के नतीजों से पता चल रहा है कि लोग कांग्रेस को विकल्प के तौर पर नहीं देख रहे हैं। यह कांग्रेस के लिए चिंता की बात होनी चाहिए। कांग्रेस के 23 लोगों ने जो चिट्ठी लिखी थी उसमें भी यहीं सब बातें कही गई थीं। कांग्रेस नेताओं ने मांग की थी कि पार्टी का एक पूर्णकालिक अध्यक्ष बने, जो एक्टिव हो। इन नेताओं ने ऊपर से नीचे तक सारे पदों पर चुनाव कराने की मांग की थी।

उस समय राहुल गांधी इतने नाराज हो गए थे कि उन्होंने कथित तौर पर कह दिया था कि इसके पीछे भाजपा की साजिश है। सिब्बल इस पर बहुत नाराज हुए थे और उन्होंने ट्विटर पर अपना प्रोफाइल बदल लिया था। बाद में खुद राहुल गांधी ने उनसे बात करके सफाई दी। असल में चिट्ठी लिखने वाले कांग्रेस नेताओं में सिब्बल इकलौते नेता हैं, जो अपनी राज्यसभा सीट के लिए कांग्रेस पार्टी पर निर्भर नहीं रहते हैं। इसलिए वे खुल कर अपनी बात कहते हैं। कांग्रेस नेताओं की चिट्ठी के बाद कार्यसमिति की बैठक हुई थी, जिसमें छह महीने में अध्यक्ष के चुनाव की बात तय हुई थी। उसके तीन महीने हो गए हैं। माना जा रहा है कि सिब्बल के बयान के बाद अब अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया भी तेज होगी और नेतृत्व को लेकर पार्टी के अंदर मंथन भी तेज होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
शिवसेना सांसद संजय राउत का दावा, भाजपा के दस और मंत्री योगी सरकार को कहेंगे अलविदा!
शिवसेना सांसद संजय राउत का दावा, भाजपा के दस और मंत्री योगी सरकार को कहेंगे अलविदा!