राजनीति| नया इंडिया| Bihar politics Jdu BJP जदयू-भाजपा में बढ़ेगा विवाद

जदयू-भाजपा में बढ़ेगा विवाद

बिहार में मिल कर सरकार चला रहे जनता दल यू और भाजपा में सब कुछ ठीक नहीं है। दोनों पार्टियों के प्रदेश के नेता एक-दूसरे पर लगातार हमला कर रहे हैं। लेकिन कुछ सैद्धांतिक और राजनीतिक मसले ऐसे हैं, जिन पर शीर्ष नेतृत्व के बीच भी सहमति नहीं है। जाति जनगणना के मसले पर दोनों का रुख अलग है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पिछले दिनों राज्य की सभी पार्टियों के नेताओं को साथ लेकर प्रधानमंत्री से मिले थे और उनसे जाति की गिनती कराने को कहा था। अब मुख्यमंत्री और दूसरी पार्टियों के नेता केंद्र के फैसले का इंतजार कर रहे हैं। अगर केंद्र सरकार इसके लिए तैयार नहीं होती है तो संभव है कि जदयू के नेतृत्व वाली बिहार सरकार राज्य में जाति की गिनती कराने का ऐलान करे। ऐसे में दोनों के बीच विवाद बढ़ेगा और राज्य में नया सत्ता समीकरण भी बन सकता है। Bihar politics JDU BJP

यह भी पढ़े: पाक ऐसा बने कि दुनिया नाज़ करे

इस बीच उत्तर प्रदेश के मसले पर भी दोनों पार्टियां आमने-सामने आ गई हैं। जदयू ने उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। उसने कहा है कि अगर भाजपा सम्मानजनक सीटें नहीं देती है तो वह अकेले लड़ेगी। जहां तक भाजपा का सवाल है तो वह जदयू को एक भी सीट देने के लिए तैयार नहीं होगी। सो, यह तय है कि जदयू को अकेले ही लड़ना होगा। इसका कुछ असर भाजपा के वोट पर पड़ सकता है। चुनाव लडऩे की तैयारियों के सिलसिले में ही जदयू ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयानों पर आपत्ति की है। उनके अब्बाजान वाले बयान को लेकर जदयू के दो बड़े नेताओं- राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह और राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि यह देश सबका है और सोच-समझ कर बयान देना चाहिए। दोनों पार्टियों के बीच आगे भी इस किस्म की खींचतान चलती रहेगी। Bihar politics JDU BJP

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

विदेश

खेल की दुनिया

फिल्मी दुनिया

लाइफ स्टाइल

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बिग बॉस फेम Yuvika Chaudhary एक Video को लेकर गिरफ्तार, बाद में जमानत पर रिहा