nayaindia bihar politics Nitish kumar आरसीपी पर भी दांव दिखा रहे हैं नीतीश
देश | बिहार | राजरंग| नया इंडिया| bihar politics Nitish kumar आरसीपी पर भी दांव दिखा रहे हैं नीतीश

आरसीपी पर भी दांव दिखा रहे हैं नीतीश

power equation in Bihar

शरद यादव के जाने के बाद जनता दल यू को दो लोगों- नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह की पार्टी माना जाता है। नीतीश मुख्यमंत्री हैं और आरसीपी पार्टी के इकलौते प्रतिनिधि के नाते केंद्र सरकार में मंत्री हैं। लेकिन आरसीपी के मंत्री बनने के बाद से ही दोनों नेताओं के बीच तनातनी की खबर है। तभी नीतीश कुमार उनके ऊपर भी दांव दिखा रहे हैं। बताया जा रहा है कि राज्यसभा चुनाव की घोषणा हो जाने के बाद भी नीतीश ने अभी तक आरसीपी के नाम की हरी झंडी नहीं दी है। ध्यान रहे आरसीपी का राज्यसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा है और केंद्र में मंत्री बने रहने के लिए उनका राज्यसभा में जाना जरूरी है।

जानकार सूत्रों के मुताबिक भाजपा से उनकी बढ़ती करीबी की वजह से नीतीश नाराज हैं इसलिए वे आरसीपी को उनकी जगह दिखा रहे हैं। संभव है कि उन्हीं को ही राज्यसभा में भेजा जाए, लेकिन यह बात आखिरी समय तय होगी। उससे पहले एक आईएएस अधिकारी मनीष वर्मा के नाम की चर्चा चला दी गई है। मनीष वर्मा भी नालंदा के हैं, कुर्मी हैं और मुख्यमंत्री के सचिव थे। इन्हीं तीन खूबियों के दम पर आरसीपी भी पार्टी में आगे बढ़े थे। मनीष वर्मा पूर्वोत्तर काडर में हैं और केंद्र सरकार ने उनको बिहार डेपुटेशन को विस्तार नहीं दिया है। इसलिए चर्चा है कि वे भी आरसीपी की तरह वीआरएस लेकर जदयू की राजनीति करेंगे। जो हो जदयू की एक राज्यसभा सीट की राजनीति काफी दिलचस्प हो गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

twelve − 9 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
खाद्य सुरक्षा बनाम किसान का हित
खाद्य सुरक्षा बनाम किसान का हित