NITI Aayog Nitish kumar नीति आयोग पर बिहारी नेताओं के हमले
राजरंग| नया इंडिया| NITI Aayog Nitish kumar नीति आयोग पर बिहारी नेताओं के हमले

नीति आयोग पर बिहारी नेताओं के हमले

NITI Aayog Nitish kumar

नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यू चूंकि भाजपा के साथ गठबंधन में है और नीतीश पूरी तरह से भाजपा की कृपा पर इस बार मुख्यमंत्री बने हैं इसलिए उनकी पार्टी सीधे भाजपा पर तो हमला नहीं कर सकती है लेकिन नीति आयोग के बहाने भाजपा को ही निशाना बनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाले नीति आयोग ने भी बिहार की गरीबी का आंकड़ा जारी करने के लिए वहीं दिन चुना, जिसके एक दिन पहले बिहार में नीतीश कुमार के बतौर मुख्यमंत्री 15 साल पूरे करने का जश्न मनाया गया था। जिस दिन जदयू के नेताओं ने नीतीश कुमार के 15 साल मुख्यमंत्री रहने का जश्न मनाया और उनको बिहार के उद्धारक, मसीहा के रूप में पेश किया उसके अगले दिन केंद्र सरकार के नीति आयोग ने बताया कि भारत में सबसे ज्यादा गरीब हैं। गरीबों के मामले में दूसरे स्थान पर जो राज्य है वह झारखंड है लेकिन वह भी बिहार से 10 अंक पीछे है। यानी वहां भी अलग होने के बाद सुधार हुआ है।

Read also देशहित में वापिस हुए कृषि कानून 

नीति आयोग की इस रिपोर्ट से जदयू के नेता भड़के हैं। उन्होंने नीति आयोग पर कई आरोप लगाए हैं और कहा है कि दिल्ली के बंद कमरे में बैठ कर रिपोर्ट बनाने वाले अधिकारियों को बिहार की हकीकत का पता नहीं है। जदयू नेता यह भी कह रहे हैं कि गलत तरीके से रिपोर्ट तैयार की जा रही है। उनका आरोप है कि जान बूझकर नीतीश कुमार की छवि खराब करने के लिए इस तरह की रिपोर्ट बनाई जा रही है। जदयू नेता अब भी मान रहे हैं कि नीतीश कुमार प्रधानमंत्री मैटेरियल हैं और इस वजह से उनकी छवि बिगाड़ी जा रही है। पार्टी के नेता इस बात से हैरान हैं कि आखिर कौन सा पैमाना लगाया जा रहा है, जिसकी वजह से स्वास्थ्य के मामले में भी बिहार को सबसे नीचे दिखाया गया, कुपोषण के मामले में भी और गरीबी के मामले में भी सबसे नीचे दिखाया जा रहा है। पुलिसिंग के मामले में भी बिहार को सबसे फिसड्डी बताया  गया है। एक तरफ जदयू नेता रिपोर्ट को लेकर नीति आयोग पर हमले कर रहे हैं तो दूसरी ओर सरकार में शामिल भाजपा चुप्पी साधे हुए है।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
उ.प्र. का भावी मुख्यमंत्री कौन?
उ.प्र. का भावी मुख्यमंत्री कौन?