प्रवेश वर्मा के सहारे जाट वोट की उम्मीद - Naya India
राजनीति| नया इंडिया|

प्रवेश वर्मा के सहारे जाट वोट की उम्मीद

भारतीय जनता पार्टी दिल्ली के चुनाव में हर दांव आजमा रही है। उसने कई बरस से मनोज तिवारी को इस आस में प्रदेश अध्यक्ष बनाए रखा है कि पूर्वांचल का वोट उनकी वजह से भाजपा को मिलेगा। हालांकि इसकी उम्मीद कम ही दिख रही है। तभी पिछले कुछ दिन से भाजपा ने जाट नेता प्रवेश वर्मा को आगे करना शुरू किया है। भाजपा की ओर से मीडिया में यह खबर दी जा रही है कि अगर भाजपा की सरकार बनती है तो प्रवेश वर्मा मुख्यमंत्री हो सकते हैं। अलग अलग तरीके से पंजाबी और बनिया मुख्यमंत्री बनाने की खबरें भी कहीं कहीं प्लांट की गई हैं। असल में भाजपा इस तरह के दांव हर उस राज्य में चलती है, जहां वह मुख्यमंत्री का दावेदार घोषित करके नहीं लड़ती है।

जब भाजपा 2014 में महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड में बिना चेहरे घोषित किए चुनाव लड़ा था तब हर जाति और समुदाय को यह मैसेज दिया गया था कि उसका नेता मुख्यमंत्री बन सकता है। वहीं तिकड़म भाजपा दिल्ली में भी आजमा रही है। उसने प्रवेश वर्मा का नाम हर जगह घोषित किया। प्रवेश वर्मा ने विवादित बयानों से अपनी कट्टरपंथी छवि चमकाई है। भाजपा ने लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा उनसे शुरू कराई। इसके बावजूद इस बात की संभावना कम ही दिख रही है कि जाट भाजपा को वोट करेंगे। जहां उनका उम्मीद है वहां की बात अलग है पर सामान्य रूप से दिल्ली में हरियाणा का ट्रेंड देखने को मिल सकता है। ध्यान रहे हरियाणा में जाट मतदाताओं ने भाजपा के जाट उम्मीदवारों को भी बहुत कम वोट किया और कांग्रेस व जननायक जनता पार्टी के उम्मीदवारों को जिताया। हरियाणा में गैर जाट मुख्यमंत्री बनाने से नाराज जाट दिल्ली में भी नाराजगी जाहिर कर सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *