nayaindia सिंधिया को सीट की तलाश - Naya India bjp leader jyotiraditya scindia SEAT
राजरंग| नया इंडिया| %%title%% %%page%% %%sep%% %%sitename%% bjp leader jyotiraditya scindia SEAT

सिंधिया को सीट की तलाश

Jyotiraditya Scindia

कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में गए ज्योतिरादित्य सिंधिया ( bjp leader jyotiraditya scindia ) का केंद्र सरकार में मंत्री बनने का सपना अभी पूरा नहीं हुआ है लेकिन अभी से उनको अपनी लोकसभा सीट की चिंता सताने लगी है। भाजपा ने उनको पिछले साल राज्यसभा में भेजा तब से वे मंत्री बनने की आस में हैं। इस बीच वे प्रदेश के कई अलग अलग इलाकों का दौरा कर रहे हैं ताकि अगले लोकसभा चुनाव के लिए एक सुरक्षित सीट तलाश सकें। उनके परिवार की पारंपरिक सीट रही ग्वालियर सीट पर भाजपा के विजय सिंह शेजवलकर इस समय सांसद हैं। पिछली लोकसभा में नरेंद्र सिंह तोमर इस सीट से जीते थे। तोमर खुद मुरैना सीट से जीते हैं। लेकिन उनकी नजर भी ग्वालियर पर रहेगी।

यह भी पढ़ें: ये बदलाव गौरतलब है

यह भी पढ़ें: छोटे हमले, बड़े आयाम

इसी तरह सिंधिया के परिवार ( bjp leader jyotiraditya scindia) की दूसरी पारंपरिक सीट गुना है, जहां से वे खुद जीतते रहे हैं। पिछली बार भाजपा की टिकट पर कृष्ण पाल यादव ने उनको हराया था। उससे पहले वे तीन बार इस सीट से जीते थे और उनसे पहले उनके पिता इस सीट से जीतते थे। उनको इस बात की चिंता है कि कहीं भाजपा आलकमान ने अपने जीते सांसदों की सीट खाली नहीं कराई और सिंधिया को राज्यसभा में ही रखने का फैसला किया तो क्या होगा? फिर दोनों पारंपरिक सीटें हाथ से निकल जाएंगी। अभी उनको खुद बहुत दिन तक राजनीति करनी है और बेटे आर्यमान को भी राजनीति में लाना है। तभी वे अपने इलाके की दोनों सीटों पर काम करने के साथ साथ दूसरी सीट पर भी नजर लगाए हुए हैं। कहा जा रहा है कि वे इंदौर की सीट भी देख रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में वे कई बार इंदौर के दौरे पर गए। हालांकि भाजपा की यह पारंपरिक सीट है, जहां से सुमित्रा महाजन आठ बार सांसद रहीं और अब कैलाश विजयवर्गीय की नजर भी इसी सीट पर है। इस पर अभी भाजपा के शंकर लालवानी सांसद हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.

twelve − eleven =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
शिवसेना मामले में चुनाव आयोग को सुनवाई की अनुमति
शिवसेना मामले में चुनाव आयोग को सुनवाई की अनुमति