nayaindia BJP Operation Lotus भाजपा के ऑपरेशन लोटस फेल हो रहे?
राजरंग| नया इंडिया| BJP Operation Lotus भाजपा के ऑपरेशन लोटस फेल हो रहे?

भाजपा के ऑपरेशन लोटस फेल हो रहे?

BJP followed arvind kejriwal

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा जिस राज्य में पहुंचने वाली होती है, वहां भाजपा के ऑपरेशन लोटस की चर्चा शुरू हो जा रही है। यात्रा जब तेलंगाना में थी तो लगभग सभी अखबारों में खबर छपी और टेलीविजन चैनलों पर दिखाया गया कि भाजपा महाराष्ट्र में कांग्रेस पार्टी को तोड़ देगी। कहा गया कि राहुल की यात्रा जब महाराष्ट्र पहुंचेगी तो ऑपरेशन लोटस होगा और कांग्रेस के विधायक टूट कर भाजपा में शामिल होंगे। अब बुधवार यानी 23 नवंबर को यात्रा मध्य प्रदेश में प्रवेश कर रही है तो उससे पहले कहा जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी के विधायक टूटेंगे, ऑपरेशन लोटस होगा। उससे पहले जब यात्रा केरल से कर्नाटक पहुंची थी तब भी यही कहा गया था।

हालांकि हकीकत यह है कांग्रेस न कर्नाटक में टूटी और न महाराष्ट्र में उसका कोई विधायक टूट कर भाजपा के साथ गया। ध्यान रहे भाजपा महाराष्ट्र में काफी समय से इसका प्रयास कर रही है। शिव सेना से टूट कर जब एकनाथ शिंदे गुट अलग हुआ और भाजपा के समर्थन से नई सरकार बनी तो उसके विश्वास मत प्रस्ताव पर वोटिंग के समय कांग्रेस के कई विधायक नहीं पहुंचे। उनमें पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण भी शामिल थे। नहीं पहुंचने वाले विधायकों ने कहा कि वे ट्रैफिक में फंस गए थे लेकिन असल कहानी बताई गई कि ये विधायक कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में जाने वाले हैं। अशोक चव्हाण के साथ साथ पृथ्वीराज चव्हाण के बारे में भी कहा जा रहा था कि वे कांग्रेस छोड़ेंगे।

लेकिन जब राहुल गांधी की यात्रा महाराष्ट्र पहुंची तो ये दोनों नेता यात्रा के साथ रहे। अशोक चव्हाण सारी तैयारियों में शामिल रहे क्योंकि यात्रा उनके क्षेत्र नांदेड़ से ही महाराष्ट्र में प्रवेश कर रही थी। इतना ही नहीं उनकी बेटी श्रीज्या नांदेड़ में पूरे समय राहुल गांधी के साथ रहीं। नांदेड़ में यह यात्रा 104 किलोमीटर चली और श्रीज्या पूरे समय राहुल के साथ पैदल चलीं। बाद में अशोक चव्हाण ने बताया कि उनकी बेटी राहुल गांधी की प्रशंसक है और वह उनके साथ कश्मीर तक पैदल चलने को तैयार है। ध्यान रहे चव्हाण ने अघोषित रूप से अपनी बेटी को अपना उत्तराधिकारी बना दिया है और वे उनके पारंपरिक भोखर विधानसभा क्षेत्र में काम कर रही हैं।

यात्रा जब महाराष्ट्र में चल रही थी तो पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण भी उसमें शामिल हुए और उसी दौरान उनको गुजरात के चुनाव की जिम्मेदारी दी गई। उनको भी पार्टी के पर्यवेक्षकों में शामिल किया गया। सो, जैसे कर्नाटक में योजना फेल हुई वैसे ही महाराष्ट्र में भी हुई। अब मध्य प्रदेश की चर्चा हो रही है। कहा जा रहा है कि भाजपा ऑपरेशन लोटस-2 की तैयारी कर रही है। यानी एक बार फिर कांग्रेस पार्टी के कुछ विधायकों को तोड़ा जाएगा। लेकिन इसकी संभावना कम दिख रही है। इक्का दुक्का विधायक टूटें तो अलग बात है लेकिन ज्यादातर विधायक अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी में अपने अपने क्षेत्र में काम करने में लग गए हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × three =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
आतंकी धमकी से कश्मीरी पंडित कर्मचारियों में भय
आतंकी धमकी से कश्मीरी पंडित कर्मचारियों में भय