nayaindia कई राज्यों में नेता बेलगाम - Naya India chief ministers bjp ruled states
kishori-yojna
राजरंग| नया इंडिया| %%title%% %%page%% %%sep%% %%sitename%% chief ministers bjp ruled states

कई राज्यों में नेता बेलगाम

chief ministers bjp ruled states: ऐसा नहीं है कि भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री ही मनमानी कर रहे हैं या उन्हीं के आगे पार्टी नेतृत्व को दबना पड़ रहा है। जहां सरकार नहीं है वहां भी नेता बेलगाम हैं और जो मन में आ रहा है, कर रहे हैं। पश्चिम बंगाल में भाजपा नेतृत्व ने शुभेंदु अधिकारी को आगे किया है।

तृणमूल कांग्रेस छोड़ कर छह-आठ महीने पहले भाजपा में शामिल हुए शुभेंदु अधिकारी को प्रदेश भाजपा के नेता स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं। प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष भी उनको पसंद नहीं कर रहे हैं और यही कारण है कि दिलीप घोष से बंगाल से बाहर निकाल कर दिल्ली लाने की चर्चा चल रही है। भाजपा नेतृत्व के कथित आइरन ग्रिप की असली हकीकत बंगाल में दिख रही है, जहां उसके तमाम प्रयासों के बावजूद थोक के भाव पार्टी छोड़ कर नेता तृणमूल कांग्रेस की ओर भाग रहे हैं।

यह भी पढ़ें: खरीद-फरोख्त दोनों में घोटाले के आरोप

राजस्थान में प्रधानमंत्री का नाम ही काफी बताया जा रहा है चुनाव जीतने के लिए लेकिन असल में इस तरह की बयानबाजी का मतलब पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को हाशिए में डालना है। परंतु हकीकत यह है कि अब भी पार्टी पर आलाकमान से ज्यादा उनकी पकड़ मजबूत है। वे फिलहाल अपने हिसाब से काम कर रही हैं और इस बात की कोई परवाह नहीं है कि ऊपर बैठे लोग क्या सोच रहे हैं।

मध्य प्रदेश में पता नहीं अपने आप या ऊपर से किसी की शह पर पार्टी के नेता अलग गुट बना कर खेमेबंदी में जुटे हैं। पार्टी के आला नेता बैठकें कर रहे हैं और मुख्यमंत्री पर दबाव बनाने की राजनीति कर रहे हैं। लेकिन ऊपर एकदम चुप्पी है। झारखंड में भाजपा नेताओं के तीन गुट बन गए हैं और इन तीन गुटों की राजनीति में पिछले एक साल में पार्टी तीन उपचुनाव हार चुकी है। ऐसा नहीं है कि पार्टी के आला नेता इस बात को नहीं जान रहे हैं लेकिन वे कुछ कर नहीं पा रहे हैं।

मोदी की नई कैबिनेट के 90 प्रतिशत मंत्री करोड़पति हैं, 42% पर आपराधिक मामले : ADR की रिपोर्ट

chief ministers bjp ruled states : महाराष्ट्र में पार्टी साफ तौर पर दो गुटों में बंटी है और इस गुटबाजी को खत्म कराने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस को दिल्ली लाने पर विचार किया जा रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four + 10 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर खान का सवाल
बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर खान का सवाल