येदियुरप्पा पर उम्र सीमा लागू नहीं

भारतीय जनता पार्टी ने अघोषित रूप से एक उम्र सीमा तय कर रखी है। पार्टी के इस अघोषित नियम के मुताबिक 75 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को सक्रिय राजनीति से दूर किया जा रहा है। नरेंद्र मोदी और अमित शाह के भाजपा की कमान संभालने के बाद यह नियम अमल में आया। लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी 2014 में 75 साल से ज्यादा उम्र का होने का बावजूद चुनाव लड़े थे पर तब यह उम्र सीमा लागू नहीं थी। पिछली बार यानी 2019 में उनको भी चुनाव नहीं लड़ाया गया।

पर ऐसा लग रहा है कि यह उम्र सीमा कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा पर लागू नहीं है। इसी महीने 27 तारीख को वे 77 साल के होने जा रहे हैं। प्रदेश में पार्टी और सरकार दोनों मुख्यमंत्री का जन्मदिन बड़े पैमाने पर मनाने की तैयारी कर रहे हैं। ध्यान रहे वे 76 साल का होने के बावजूद पिछले साल कांग्रेस और जेडीएस की सरकार गिरा कर मुख्यमंत्री बने और अगर सब कुछ ठीक रहा तो 2023 में 80 साल का होने तक मुख्यमंत्री बने रहेंगे। असल में लिंगायत वोट की मजबूरी में उनको बनाए रखने के अलावा भाजपा के पास कोई और चारा नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares