nayaindia Brahmin leaders of BJP भाजपा के ब्राह्मण नेताओं की बेचैनी
राजरंग| नया इंडिया| Brahmin leaders of BJP भाजपा के ब्राह्मण नेताओं की बेचैनी

भाजपा के ब्राह्मण नेताओं की बेचैनी

Opposition parties BJP

पहली बार ऐसा हो रहा है कि भारतीय जनता पार्टी के ब्राह्मण नेता खुल कर पार्टी में अपने समाज की अनदेखी का मुद्दा उठा रहे हैं। हरियाणा की रोहतक सीट के सांसद अरविंद शर्मा ने अपनी ही पार्टी को निशाना बनाते हुए कहा कि एक समय में देश में 10-10 ब्राह्मण मुख्यमंत्री होते थे लेकिन अब इनकी संख्या गिनती की रह गई है। उन्होंने हरियाणा के पहले मुख्यमंत्री पंडित भगवत दयाल शर्मा का जिक्र करते हुए कहा कि हरियाणा में कब ब्राह्मण मुख्यमंत्री बनेगा। इसी तरह महाराष्ट्र में भाजपा के पूर्व अध्यक्ष राव साहेब दानवे ने कहा कि वे नहीं चाहते कि ब्राह्मण नेता सिर्फ निगम पार्षद या नगर निगम के अध्यक्ष बनें, उन्हें बड़ा पद मिलना चाहिए।पहली बार पार्टी के अंदर इस तरह की बात उठी है।

हालांकि आवाज उठाने वाले नेता बहुत बड़े कद के नहीं हैं या सीधे तौर पर अपनी पार्टी को दोष नहीं दे रहे हैं। लेकिन वे जिस ओर इशारा कर रहे हैं उसका जिक्र पार्टी के दूसरे नेता भी करने लगे हैं। ध्यान रहे इस समय देश के सबसे ज्यादा राज्यों में शासन कर रही है। लेकिन अपवाद के लिए असम में एक ब्राह्मण मुख्यमंत्री है। इससे पहले अकेले ब्राह्मण मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस थे।

ऐसा नहीं है कि भाजपा पिछड़ी जातियों की राजनीति कर रही है और इसलिए वह अगड़ी जातियों की अनदेखी कर रही है। भाजपा अगड़ी जातियों के मुख्यमंत्री बनाती रही है लेकिन ब्राह्मण छोड़ कर। यहां तक कि अल्पसंख्यक जैन समाज का भी मुख्यमंत्री गुजरात में बना रखा था, जिसे पिछले साल हटाया गया। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में भाजपा ने ठाकुर मुख्यमंत्री बनाया है तो त्रिपुरा में कायस्थ मुख्यमंत्री बनाया था, जिन्हें इसी महीने हटाया गया है। उनकी जगह वैश्य मुख्यमंत्री बनाया गया है। ध्यान रहे उत्तर प्रदेश के चुनाव में तमाम नाराजगी जताने के बावजूद ब्राह्मणों ने भाजपा को वोट दिया था और लगभग पूरे देश में ब्राह्मण मतदाता थोक में भाजपा को वोट देते हैं। यह भी ध्यान रखने की बात है कि देश की सबसे बड़ी आबादी वाली जाति ब्राह्मण है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

18 + five =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
एनआईए की हिरासत में हत्यारे
एनआईए की हिरासत में हत्यारे