राजनीति| नया इंडिया| covishield vaccine certificate britain सर्टिफिकेट पर फोटो का विवाद

सर्टिफिकेट पर फोटो का विवाद

corona vaccination in india

ब्रिटेन ने कहा है कि कोवीशील्ड वैक्सीन से उसे कोई समस्या नहीं है, बल्कि भारत में वैक्सीनेशन के बाद दी जा रही सर्टिफिकेट को लेकर समस्या है। इसका मतलब है कि दुनिया में कहीं न कहीं यह विचार हो रहा है भारत के सर्टिफिकेशन प्रोग्राम में समस्या है। हालांकि इसका काम देख रहे आईएएस अधिकारी आरएस शर्मा ने कहा है कि कोविन ऐप विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्लुएचओ के बनाए नियमों के अनुकूल है। हो सकता है कि यह ऐप डब्लुएचओ के नियमों के अनुकूल है लेकिन इसे लेकर वैसे भी दुनिया के कई देशों में सवाल उठ रहे हैं और कई जगह बहुत हास्यास्पद स्थिति बन गई, जिसे लेकर भाजपा के सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने भी सहमति जताई। covishield vaccine certificate britain

Read also वैक्सीन का भेदभाव कैसे खत्म होगा?

असल में दुनिया में कई देशों में रहने वाले भारतीयों ने अपने अनुभव साझा किए और कहा कि वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो से उन्हें कई जगह समस्या हुई। कई  लोगों ने बताया कि हवाईअड्डों पर आव्रजन अधिकारी वैक्सीन पर लगी फोटो की मिलान उनके पासपोर्ट पर लगे फोटो से करने लगे और फोटो नहीं मिलने पर लोगों को बैठा लिया। उन्हें कई बार समझाना पड़ा और गूगल करके भारत के प्रधानमंत्री की फोटो दिखानी पड़ी कि यह फोटो उनकी नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री की है। इससे कई जगह मजाकिया स्थिति भी बनी तो कई जगह लोगों को अतिरिक्त जांच से गुजरना पड़ा और मुश्किलें उठानी पड़ीं। इस बारे में लोगों ने अनुभव साझा किए तो उनसे सहमति जताते हुए सुब्रह्मण्यम स्वामी ने वैक्सीन सर्टिफिकेट पर प्रधानमंत्री की फोटो लगाने को मूर्खतापूर्ण बताया और यह सवाल भी किया कि पता नहीं यह काम प्रधानमंत्री की मर्जी से हो रहा है या अधिकारी खुद ब खुद कर रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

विदेश

खेल की दुनिया

फिल्मी दुनिया

लाइफ स्टाइल

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Covid के नए वेरिएंट ने ब्रिटेन में फैलाई दहशत, 24 घंटे में 223 लोगों की मौत