राजनीति| नया इंडिया| Xi Jinping visited Tibet चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग ने तिब्बत की यात्रा की

शी की यात्रा पर भारत की चुप्पी!

chiness president

Xi Jinping visited Tibet चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग ने तिब्बत की यात्रा की। वे दो दिन तिब्बत में रहे। राजधानी ल्हासा के अलावा वे अरुणाचल प्रदेश की सीमा से सटे न्यांगची भी गए। यह महज संयोग नहीं था कि जिस साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तिब्बत के आध्यात्मिक नेता दलाई लामा को उनके जन्मदिन पर बधाई दी उसी साल चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग तिब्बत की यात्रा पर गए, दलाई लामा के पारंपरिक निवास पोटला पैलेस भी गए और उसके बाद अरुणाचल प्रदेश की सीमा तक आए। चीन ने उनकी इस यात्रा के जरिए भारत को एक मैसेज दिया है। ध्यान रहे चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिणी तिब्बत बता कर उस पर अपना दावा करता रहा है और उसने भूटान के ऐसे हिस्सों पर अपना दावा किया है, जहां पहुंचने के लिए अरुणाचल प्रदेश के बीच से होकर जाना होगा।

Read also किसानों के मामले में अदालत क्यों चुप?

तभी भारत का कोई भी नेता अरुणाचल प्रदेश की यात्रा करता है तो चीन उस पर न सिर्फ बयान जारी करता है, बल्कि आपत्ति भी जताता है। इसके बावजूद शी जिनफिंग की न्यांगची यात्रा पर भारत ने चुप्पी साधे रखी। यह मामूली बात नहीं है कि अपने 10 साल के राज में शी पहली बार तिब्बत गए और पिछले 30 साल के इतिहास में पहली बार कोई चीनी राष्ट्रपति तिब्बत की यात्रा पर गया। इस लिहाज से भी जरूरी था कि भारत इस पर बयान जारी करता। अरुणाचल प्रदेश की सीमा तक उनकी यात्रा पर सवाल नहीं भी उठाता तो तिब्बत का मसला उठाता। तिब्बत पर चीन के अवैध कब्जे की बात करता। तिब्बत के बहाने चीन भारत की सीमा तक बुलेट ट्रेन की लाइन बना रहा है और दूसरा बुनियादी ढांचा तैयार कर रहा है। फिर भी भारत इस खतरे के प्रति आंखें मुंदे हुए है।

Xi Jinping visited Tibet

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

विदेश

खेल की दुनिया

फिल्मी दुनिया

लाइफ स्टाइल

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
13 साल छोटे रिक्शा चालक के साथ पति के 47 लाख लेकर फरार हुई 45 वर्षीय महिला…