कांग्रेस नेता विवाद का कारण खोज लेते हैं - Naya India
राजनीति| नया इंडिया|

कांग्रेस नेता विवाद का कारण खोज लेते हैं

इन दिनों कांग्रेस पार्टी में कई ऐसे विघ्न संतोषी नेता बैठे हैं, जो किसी न किसी मुद्दे पर विवाद का कारण खोज लेते हैं। जैसे शुक्रवार को कांग्रेस कार्य समिति की बैठक हुई, जिसमें पार्टी के दो दिग्गज नेताओं को श्रद्धांजलि दी गई तो कई नेताओं ने यह विवाद खड़ा कर दिया कि तीसरे नेता को क्यों नहीं श्रद्धांजलि दी गई। असल में कार्य समिति की विशेष बैठक कांग्रेस कोषाध्यक्ष अहमद पटेल और असम के तीन बार मुख्यमंत्री रहे तरुण गोगोई को श्रद्धांजलि देने के लिए बुलाई गई थी। इसमें पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस महासचिव मुकुल वासनिक ने दोनों नेताओं को श्रद्धांजलि देने का प्रस्ताव पेश किया है, जिसे कार्य समिति ने मंजूर किया। सभी नेताओं ने दोनों को श्रद्धांजलि दी और उनके योगदान को याद किया।

कार्य समिति की बैठक की सबसे खास बात यह रही है कि लगभग सभी नेताओं ने पार्टी की एकजुटता पर जोर दिया। कहा गया कि इन नेताओं को सच्ची श्रद्धांजलि यहीं होगी कि पूरी पार्टी एकजुट रहे। हरीश रावत और भक्त चरण दास जैसे दो नेताओं ने राहुल गांधी को पार्टी का अध्यक्ष बनाने की बात भी उठाई। जब कार्य समिति की बैठक खत्म हो गई तो पार्टी के कुछ नेताओं ने यह मुद्दा उठा दिया कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को इसी तरह कांग्रेस कार्य समिति की बैठक बुला कर श्रद्धांजलि क्यों नहीं दी गई। हालांकि यह बेसिरपैर का विवाद है पर कांग्रेस नेताओं ने इसे मुद्दा बना दिया। उनका कहना है कि कांग्रेस में ऐसी परंपरा रही है कि सीडब्लुसी के सदस्य रहे या पार्टी के बड़े पदों पर रहे नेताओं को कार्य समिति की बैठक में श्रद्धांजलि दी जाती है पर प्रणब मुखर्जी को नहीं दी गई। गौरतलब है कि उनका निधन अगस्त में हुआ था और उन्हें बतौर पूर्व राष्ट्रपति पूरे देश ने श्रद्धांजलि दी थी। कांग्रेस ने भी उन्हें श्रद्धांजलि और सम्मान देने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी पर कांग्रेस के कुछ नेता किसी बहाने से विवाद खड़ा करना चाहते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});