nayaindia congress party president election शिकायतों से चुनाव को वैधता मिलेगी!
kishori-yojna
राजरंग| नया इंडिया| congress party president election शिकायतों से चुनाव को वैधता मिलेगी!

शिकायतों से चुनाव को वैधता मिलेगी!

कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव के नतीजे आने से पहले ही शशि थरूर और उनकी टीम ने चुनाव में गड़बड़ी के आरोप लगाने शुरू कर दिए थे। बुधवार को वोटों की गिनती शुरू होने के थोड़ी देर बाद ही थरूर के चुनाव एजेंटे सलमान सोज ने चुनाव में गड़बड़ी के आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि वे लोग चुनाव प्राधिकार के प्रमुख मधुसूदन मिस्त्री के संपर्क में थे और उनको कई बातों के बारे में सूचना दी थी। हालांकि उन्होंने कहा कि वे इसके विस्तार में नहीं जा सकते। उन्होंने उत्तर प्रदेश में चुनावी गड़बड़ी के आरोप लगाए, जहां सबसे ज्यादा 11 सौ के करीब प्रतिनिधि हैं। थरूर की टीम ने यूपी में चुनाव रद्द करने की भी मांग की। इससे पहले चुनाव प्रचार के दौरान खुद थरूर ने पक्षपात का आरोप लगाया था।

मल्लिकार्जुन खड़गे के खिलाफ चुनाव लड़े शशि थरूर और उनकी टीम की ओर से लगाए गए आरोप और उनकी शिकायतों से इस चुनाव को वैधता मिली है। कोई इस चुनाव को मिला-जुला खेल नहीं कह सकेगा। हालांकि मोटे तौर पर यह मिला-जुला खेल ही था। सोनिया और राहुल समर्थित उम्मीदवार के खिलाफ लड़ने के लिए एक चेहरे की जरूरत थी, जिसकी छवि स्वतंत्र नेता की हो। इस कसौटी पर शशि थरूर खरा उतर रहे थे क्योंकि वे जी 23 के सदस्य भी थे और पार्टी की नीतियों को लेकर समय समय पर बयान भी देते रहते थे। इसलिए उनके लड़ने से चुनाव से स्वतंत्र दिखने लगा। अब उनकी शिकायतों से यह बात और प्रमाणित होगी कि वे प्रॉक्सी उम्मीदवार नहीं थे, बल्कि अपनी मर्जी से, पूरी तैयारी के साथ चुनाव लड़े। कांग्रेस पार्टी यह मैसेज बनाना चाहती थी ताकि कोई अध्यक्ष के चुनाव को दिखावा नहीं बता सके। कांग्रेस को इस रणनीति में कामयाबी मिली है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four + 12 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
डॉक्यूमेंट्री पर प्रतिबंध के खिलाफ याचिका ‘सुप्रीम कोर्ट के कीमती समय की बर्बादी’
डॉक्यूमेंट्री पर प्रतिबंध के खिलाफ याचिका ‘सुप्रीम कोर्ट के कीमती समय की बर्बादी’