पत्रकारों को राहुल की चिंता - Naya India
राजनीति| नया इंडिया|

पत्रकारों को राहुल की चिंता

जब से राहुल गांधी ने अंग्रेजी और टेलीविजन वाले कथित बड़े पत्रकारों को ट्विटर पर अनफॉलो किया तब से पत्रकारों को उनकी चिंता सताने लगी है। वे उनको अजीबोगरीब राय दे रहे हैं। जैसे राजदीप सरदेसाई ने लेख लिख कर कहा कि राहुल गांधी को कांग्रेस से निकल कर अलग पार्टी बनानी चाहिए। सोचें, राहुल के पास देश की सबसे पुरानी और एक विशाल पार्टी है, जिसे वे ठीक से नहीं चला पा रहे हैं और राजदीप ने उनको सलाह दे दी कि वे नई पार्टी बना लें! असल में उनको लग रहा है कि कांग्रेस के पुराने नेता राहुल को ठीक से काम नहीं करने दे रहे हैं। लेकिन सवाल है कि राहुल ने जिन नेताओं को चुना और केंद्र में मंत्री बनाया या प्रदेशों में अध्यक्ष बनाया वे कौन सा राहुल को मजबूत बना रहे हैं? उन्होंने ही तो सबसे ज्यादा राहुल को कमजोर किया है!

यह भी पढ़ें: विश्व मंच पर तानाशाहों के साथ भारत

बहरहाल, राजदीप ने एक सलाह दी एक दूसरे पत्रकार ने सलाह दी कि कांग्रेस पार्टी खुद ही क्यों नहीं सोनिया, राहुल और प्रियंका को अलग करके नई पार्टी बन जाती है? यानी गांधी परिवार के बगैर कांग्रेस पार्टी! फिर एक महिला पत्रकार ने ऐलान किया कि अगर देश का मीडिया नरेंद्र मोदी से कठिन सवाल नहीं पूछ सकता है तो उसे विपक्ष यानी राहुल गांधी से भी सवाल भी पूछने का हक नहीं है। असल में मुख्यधारा की मीडिया से बाहर के पत्रकारों की एक बड़ी जमात को इस बात पर आपत्ति है कि मुख्यधारा की मीडिया क्यों विपक्ष से सवाल पूछ रही है। सो, इस समय सोशल मीडिया में कुल मिला कर हालात ऐसे हैं कि पत्रकारों की बड़ी मंडली राहुल गांधी की चिंता में है। वैसे तो पिछले काफी समय से पत्रकारों द्वारा राहुल गांधी और कांग्रेस को नसीहत देने का काम चल रहा है पर अब जबसे ऐसा लगने लगा है कि भाजपा बैकफुट पर है और नरेंद्र मोदी से भी लोग नाराज हो सकते हैं, तब से राहुल को सलाह देने वाले और उनकी चिंता करने वाले बढ़ गए हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *