nayaindia वैक्सीन में भी अमेरिका को पीछे छोड़ा! - Naya India
राजरंग| नया इंडिया|

वैक्सीन में भी अमेरिका को पीछे छोड़ा!

ऐसा नहीं है कि भारत ने सिर्फ डिजिटल लेन-देन और कैशलेस अर्थव्यवस्था बनाने में अमेरिका को पीछे छोड़ा है, वैक्सीन लगवाने में भी भारत ने अमेरिका को पीछे छोड़ दिया है और यह बात किसी पूर्व अधिकारी ने नहीं, बल्कि भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव और नीति आयोग के सदस्य ने साझा तौर पर कही है। प्रेस कांफ्रेंस में लव अग्रवाल और डॉक्टर वीके पॉल ने कही। दोनों ने शुक्रवार को बताया कि भारत में 17.2 करोड़ लोगों को पहली डोज लग चुकी है और इसके साथ ही भारत ने अमेरिका को पीछे छोड़ दिया है। सोचें, आंकड़ों को इस तरह से पेश करने का क्या मतलब है? एक तरफ तो भारत हाथ फैलाए हुए है कि अमेरिका अपने स्टॉक वाली वैक्सीन भारत को दे दे और साथ ही अमेरिकी कंपनियों की सारी शर्तें मानने को तैयार है ताकि वे अपनी वैक्सीन भारत को दें और दूसरी ओर यह दावा है कि अमेरिका को पीछे छोड़ दिया!

भारतीय जनता पार्टी इस तरह से आंकड़ों को पेश करे तो बात समझ में आती है लेकिन सरकारी अधिकारियों को क्यों इस तरह से आंकड़ों को पेश करना चाहिए? अगर 140 करोड़ की आबादी में 17 करोड़ लोगों को पहली डोज लग गई तो यह आबादी का 15 फीसदी ही तो हुआ! जहां तक दोनों डोज की बात है तो वह चार फीसदी आबादी को भी नहीं लग पाई है। दूसरी ओर तीन जून तक के उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका ने अपनी करीब 52 फीसदी आबादी को पहली डोज लगा दी है और 42 फीसदी आबादी को दोनों डोज लग गई है। सोचें, कहां भारत में चार फीसदी आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेटेड नहीं हुई है और कहां अमेरिका ने 42 फीसदी आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेट कर दी और भारत में अधिकारी आंकड़ा ऐसे पेश कर रहे हैं कि भारत ने अमेरिका को पीछे छोड़ दिया! अमेरिका की आबादी 33 करोड़ है और उसने 45 करोड़ टेस्टिंग की है, जबकि 140 करोड़ के भारत में 35 करोड़ के करीब टेस्ट हुए हैं और इसमें भी बड़ा हिस्सा रैपिड एंटीजन टेस्ट का है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × one =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
मार्च की अनुमति नहीं तेलंगाना भाजपा प्रमुख को किया नजरबंद
मार्च की अनुमति नहीं तेलंगाना भाजपा प्रमुख को किया नजरबंद