omicron second generation vaccine अब सेकेंड जेनरेशन वैक्सीन की बात
राजरंग| नया इंडिया| omicron second generation vaccine अब सेकेंड जेनरेशन वैक्सीन की बात

अब सेकेंड जेनरेशन वैक्सीन की बात

omicron second generation vaccine

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर दुनिया भर में मचे हड़कंप के बीच वैक्सीन के बूस्टर डोज की बहुत चर्चा हो रही है। कई देशों ने इसकी शुरुआत कर दी है और कई जगह यह शुरू होने वाला है। हालांकि भारत जैसे देश में बूस्टर डोज अभी संभव नहीं है क्योंकि अभी तक सिर्फ 30 फीसदी आबादी को ही दोनों डोज लग पाई है। बच्चों की वैक्सीनेशन भी शुरू होने वाली है। इसलिए बूस्टर डोज मुश्किल है। लेकिन उससे ज्यादा मुश्किल यह है कि बूस्टर डोज के कारगर होने पर भी सवाल उठ रहे हैं और बिल गेट्स जैसे कारोबारी सेकेंड जेनरेशन वैक्सीन की बात करने लगे हैं। omicron second generation vaccine

Read also यह कैसा भारत बन रहा है?

उन्होंने कहा है कि सेकेंड जेनरेशन वैक्सीन के बगैर दुनिया भर में जनजीवन सामान्य नहीं हो पाएगा। ध्यान रहे वायरस की महामारी और वैक्सीनेशन की पूरी प्रक्रिया में बिल गेट्स को लेकर काफी सवाल उठे हैं। ऑनलाइन कई किस्म की साजिश थ्योरी की चर्चा हुई है। तभी जब उन्होंने सेकेंड जेनरेशन वैक्सीन की बात कही तो इस पर सवाल उठने लगे। एक तरफ उन्होंने सेकेंड जेनरेशन वैक्सीन की बात कही और दूसरी ओर अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना ने ऐलान कर दिया कि अगर बूस्टर डोज कारगर नहीं होती है तो वह दो महीने में नई वैक्सीन तैयार कर देगी। इससे पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्लुएचओ ने यह आशंका जताई है कि मौजूदा वैक्सीन उसकी बूस्टर डोज हो सकता है कि नए वैरिएंट पर कारगर न हो। ध्यान रहे डब्लुएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडेनम गैब्रिएसस के साथ बिल गेट्स के पुराने और अच्छे संबंध हैं। बहरहाल, इस पूरे मामले को समग्रता से देखें तो नई वैक्सीन के लिए जमीन बनते दिखेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
ट्विटर पर मना रहे थे केशव मौर्य
ट्विटर पर मना रहे थे केशव मौर्य