देशभक्ति का जवाब ज्यादा देशभक्ति से - Naya India
राजनीति| नया इंडिया|

देशभक्ति का जवाब ज्यादा देशभक्ति से

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हर वह काम करते हैं, जो भाजपा और उसके नेता नरेंद्र मोदी करते हैं। फर्क यह होता है कि केजरीवाल थोड़ी डिग्री बढ़ा देते हैं या उसका रूप बदल देते हैं। जैसे भाजपा के नेता जय श्रीराम का नारा लगाते हैं और भगवान राम के नाम पर वोट मांगते हैं तो केजरीवाल और उनकी पार्टी हनुमानजी के नाम पर वोट मांगना शुरू किया। नामांकन से लेकर नतीजे आने के दिन तक केजरीवाल न सिर्फ हनुमान मंदिर गए, बल्कि उनकी पार्टी ने तय किया कि हर मंगलवार को दिल्ली में जगह जगह पर हनुमान चालीसा का पाठ होगा। भाजपा चुनावों में मुस्लिमों को टिकट नहीं देती है तो केजरीवाल भी एक ऑडियो क्लिप में कहते पाए गए कि दिल्ली में मुसलमानों के लिए चार टिकट बहुत है, वे जाएंगे कहां।

इसी तरह भाजपा ने देश के नागरिकों को देशभक्त और देशद्रोही का सर्टिफिकेट बांटना शुरू किया तो केजरीवाल भी उस खेल में कूद पड़े। उन्होंने खुद को ज्यादा देशभक्त साबित करने का दांव चला है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने तय किया था कि आजादी के 75 साल पूरे होने का जश्न 75 हफ्ते पहले से मनाया जाएगा। अभी भारत सरकार इसकी योजना जारी करती उससे पहले ही केजरीवाल सरकार ने बजट में 75 हफ्ते पहले से जश्न शुरू होने का ऐलान कर दिया। केजरीवाल ने अपनी सरकार के बजट का ही नाम दशभक्ति बजट कर दिया। सरकार ने तय किया है कि दिल्ली में पांच सौ जगहों पर तिरंगा फहराया जाएगा। सोचें, भाजपा ने 15 अगस्त को ही तिरंगा यात्रा निकालने की योजना शुरू की थी, केजरीवाल ने सालों भर तिरंगा फहराने की योजना जारी कर दी। थोड़े दिन में हो सकता है कि केजरीवाल भी देशभक्ति का सर्टिफिकेट बांटना शुरू करें!

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *