कांग्रेस, भाजपा बदलेंगे प्रदेश अध्यक्ष - Naya India
राजनीति| नया इंडिया|

कांग्रेस, भाजपा बदलेंगे प्रदेश अध्यक्ष

दिल्ली विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस और भाजपा दोनों के प्रदेश अध्यक्ष बदलेंगे। कांग्रेस ने तो वैसे भी चुनाव से ऐन पहले कामचलाऊ अध्यक्ष के तौर पर बुजुर्ग नेता सुभाष चोपड़ा को नियुक्त कर दिया था। उसे चुनाव के बाद अध्यक्ष बदलना ही था, चाहे नतीजे जो आएं। पर भाजपा ने कई बरसों से मनोज तिवारी को अध्यक्ष बना रखा है। उनके भरोसे भाजपा को पूर्वांचल के वोट मिलने की उम्मीद थी। पर वह उम्मीद पूरी नहीं हुई है। पूर्वांचल का वोट लगभग एकमुश्त आम आदमी पार्टी के साथ गया है। भाजपा के साथ उसका पुराना और आजमाया हुआ पंजाबी और वैश्य का वोट ही रहा, जो और ज्यादा कंसोलिडेट हुए। तभी संभव है कि पार्टी किसी पंजाबी, वैश्य या जाट नेता को प्रदेश अध्यक्ष बनाए। उसी हिसाब से एक चेहरा केंद्र सरकार में भी एडजस्ट किया जा सकता है।

कांग्रेस के पास नेताओं की घनघोर कमी है पर कहा जा रहा है कि पार्टी जल्दी ही किसी नए नेता को कमान देकर उसे पांच साल काम करने का मौका देगी। पार्टी के कई नेताओं ने ट्विट करके दिल्ली की राजनीति के बारे में पार्टी आलाकमान के रवैए पर सार्वजनिक रूप से सवाल उठाए। इस बात को लेकर भी हैरानी है कि कांग्रेस के नेता आप की जीत का जश्न मना रहे हैं। ऐसे तो दिल्ली में भी कांग्रेस की स्थिति तमिलनाडु या बिहार और उत्तर प्रदेश की तरह हो जाएगी। तभी कांग्रेस नेताओं को किसी तरह से संगठन बचाए रखने की चिंता है। कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि कांग्रेस 15 साल सत्ता से बाहर रहने के बाद भी मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में सत्ता में लौटी तो कारण संगठन था। दिल्ली में भी कांग्रेस वापसी कर सकती है अगर संगठन को मजबूत किया जाए।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow