अब कितना नोट छापे सरकार! - Naya India Indian Currency Rupees Status
राजनीति| नया इंडिया| %%title%% %%page%% %%sep%% %%sitename%% Indian Currency Rupees Status

अब कितना नोट छापे सरकार!

Indian currency

Indian Currency Rupees Status | केंद्र सरकार ने नोट छाप कर ढेर लगा दिया है, फिर भी आर्थिकी के कई जानकार चाहते हैं कि सरकार और नोट छापे। सरकार अगर ज्यादा नोट छापती है तो मुद्रा की कीमत और गिरेगी। इससे हो सकता है कि लोगों के पास नकदी ज्यादा आ जाए लेकिन यह क्रयशक्ति बढ़ने की गारंटी नहीं होगी क्योंकि ज्यादा नोट छाप कर बाजार में चलन में लाने का खतरा यह है कि मुद्रा का अवमूल्यन होगा और महंगाई बढ़ेगी क्योंकि बाजार में नकदी ज्यादा आने से उत्पादन नहीं बढ़ेगा लेकिन मांग जरूर बढ़ जाएगी।

यह भी पढ़ें: सबको पीछे छोड़ देंगे हिमंता सरमा

यह भी पढ़ें: बंगाल की चुनावी लड़ाई अब अदालत में

बहरहाल, भारत में सरकार पहले से ही नोट छापे जा रही है। कोरोना वायरस (Corona Virus 2019 ) का संक्रमण शुरू होने के बाद सरकार ने खुद ही इसमें तेजी ला दी है। रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक जनवरी 2020 में देश में 21.79 लाख करोड़ रुपए की नकदी थी, जो मार्च 2021 में बढ़ कर 28.60 लाख करोड़ हो गई। सोचें, एक साल से कुछ ज्यादा समय में सात लाख करोड़ रुपए से ज्यादा की नकदी बाजार में आ गई। नवंबर 2016 में नोटबंदी से ठीक पहले देश में 18 लाख करोड़ रुपए से कुछ ज्यादा की नकदी थी, जिसमें से 15.28 लाख करोड़ रुपए पांच सौ और एक हजार के नोट थे। उसे सरकार ने यह कहते हुए बंद किया कि काला बाहर निकालना है। बाद में कहा गया कि कैशलेस यानी डिजिटल लेन-देन बढ़ाने के लिए नोटबंदी की गई। और अब नोटबंदी के साढ़े साल चार साल बाद उस समय के मुकाबले 10 लाख करोड़ ज्यादा नकदी बाजार में है। Indian Currency Rupees Status सोचें, अगर अब और नोट छापे जाते हैं और नकदी बाजार में आती है तो क्या होगा!

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *