कांग्रेस-भाजपा की बदली भूमिका - Naya India
राजरंग| नया इंडिया|

कांग्रेस-भाजपा की बदली भूमिका

लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस और भाजपा की भूमिका बदल गई है। भाजपा सरकार में है और कांग्रेस कमजोर विपक्ष है। भूमिका बदलने के साथ ही दोनों पार्टियों की सोच भी बदल गई है। पहले भाजपा सरकारी अनाज मंडियों और आढ़तियों की व्यवस्था का समर्थन करती थी और पूरी ताकत वालमार्ट जैसी खुदरा कारोबार की कंपनियों का विरोध करती थी। दूसरी ओर कांग्रेस दस साल सरकार में रहते हुए आढ़तियों की व्यवस्था को किसानों के लिए खराब मानती थी और निजी कंपनियों का समर्थन करती थी। सुषमा स्वराज और कपिल सिब्बल के दो भाषण इन दिनों वायरल हो रहे हैं, जिनमें दोनों पार्टियों का पुराना रुख दिखता है।

कांग्रेस के राज में लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने आढ़तियों की व्यवस्था का बचाव करते हुए एक बहुत शानदार भाषण दिया था। उन्होंने कहा था कि एटीएम तो आज आएं पर आढ़तिए दशकों से किसान का एटीएम हैं। किसान को बेटी की शादी करनी हो, बेटे की पढ़ाई हो या बाप की दवाई हो वह साफा बांधता है और आढ़तिए के पास पहुंच जाता है। वह शान से पैसे मांगता है और उसे मिल जाता है। आढ़तिए को पता होता है कि अगली फसल आएगी तो उसके पैसे वापस मिल जाएंगे। आज कांग्रेस के लोग यह भाषण वायरल कर रहे हैं क्योंकि आज भाजपा आढ़तियों को चोर बता रही है।

दूसरी ओर कपिल सिब्बल का एक भाषण वायरल हो रहा है, जिसमें वे कह रहे हैं कि आढ़तिए या बिचौलिए किसान का पैसा मार जाते हैं। उनसे कमीशन लेते हैं, मनमाना दाम देते हैं और उन्हें उनकी पसंद की जगह पर फसल बेचने के लिए मजबूर करते हैं। वे यह भी बता रहे हैं कि भारत में सरकारी मंडियों की व्यवस्था कितनी कम है और निजी कंपनियों के अनाज खरीद में आने से किसानों को कितना फायदा होगा। भाजपा के नेता सिब्बल का यह वीडियो वायरल कर रहे हैं क्योंकि कांग्रेस आज आढ़तियों को समर्थन में उतर गई है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पाकिस्तानः दाल बहुत अच्छी लेकिन……?
पाकिस्तानः दाल बहुत अच्छी लेकिन……?