• डाउनलोड ऐप
Saturday, April 17, 2021
No menu items!
spot_img

सुरेजवाला के बढ़ते कद से परेशान हुड्डा

Must Read

भूपेंद्र सिंह हुड्डा को कांग्रेस आलाकमान ने मुख्यमंत्री बनाया था और 10 साल तक मुख्यमंत्री बनाए रखा था। भजनलाल को किनारे करके आलाकमान ने हुड्डा को मौका दिया था। लेकिन अब हुड्डा नहीं चाहते हैं कि पार्टी प्रदेश में किसी और को मौका दे। दूसरी ओर राहुल गांधी अपने करीबी रणदीप सुरजेवाला को आगे बढ़ा रहे हैं। असल में राहुल इस किस्म के प्रयोग करते रहते हैं। उन्होंने इससे पहले छह साल तक अशोक तंवर को प्रदेश अध्यक्ष बनाए रखा था। सबको पता था कि वे किसी लायक नहीं हैं पर राहुल की कृपा से वे प्रदेश अध्यक्ष रहे और जब हटाया गया तो पार्टी छोड़ कर चले गए। उन्होंने भी पार्टी अध्यक्ष पद को अपनी मिल्कियत समझ ली थी।

सुरजेवाला भी विधानसभा के दो चुनाव लगातार हार चुके हैं। वे पहले जींद सीट पर उपचुनाव हारे और उसके बाद अपनी कैथल सीट पर भी चुनाव हार गए। लेकिन कांग्रेस के मीडिया प्रभारी के तौर पर उनका काम अच्छा रहा है और राहुल गांधी उनको पसंद करते हैं। परदे के पीछे की राजनीति में वे माहिर हैं। तभी अपना महत्व बनवाए हुए हैं। राहुल ने उनको बिहार का चुनाव लड़ाने भेजा था और अब तमिलनाडु में डीएमके से गठबंधन की बात करने के काम में भी उनको शामिल किया गया है। राहुल गांधी ने उनको महासचिव बना कर कर्नाटक जैसे अहम राज्य का प्रभारी भी बनाया है।

वे जाट हैं इसलिए भी उनको मिल रहे महत्व से भूपेंद्र सिंह हुड्डा खुन्नस में हैं और वे कांग्रेस आलाकमान को कमजोर करने की राजनीति कर रहे हैं। हरियाणा में विधानसभा चुनाव करीब चार साल बाद होने हैं और उससे पहले इस बात की कोई संभावना नहीं है हुड्डा या कोई भी नेता भाजपा की सरकार गिरा कर अपनी सरकार बना लेगा। किसी की हिम्मत नहीं है कि टूट कर भाजपा से अलग हो। निर्दलीय विधायक बलराज कुंडु ने खट्टर सरकार से समर्थन वापस लिया तो उनके घर और ससुराल सहित 30 जगह आय कर के छापे पड़े। हुड्डा तो पहले से ही कई मामलों में फंसे हैं। इसलिए सरकार अभी नहीं बननी है पर वे चाहते हैं कि कांग्रेस आलाकमान अभी से तय कर दे कि 2024 में कांग्रेस जीतती है तो दीपेंद्र हुड्डा मुख्यमंत्री बनेंगे।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

Report :  देश में नहीं उठाए गये सख्त कदम तो जून तक प्रतिदिन होगी 2,320 मौतें

New Delhi: देश में कोरोना का एक बार फिर से कहर बरसा रहा है. कोरोना की ये दूसरी लहर...

More Articles Like This