nayaindia स्टालिन, कनिमोझी का हिंदी विरोध - Naya India
राजरंग| नया इंडिया|

स्टालिन, कनिमोझी का हिंदी विरोध

डीएमके नेता कनिमोझी ने कहा कि चेन्नई हवाईअड्डे पर तैनात किसी सीआईएसएफ के अधिकारी ने उनके हिंदी नहीं जानने पर सवाल उठाया और कहा कि क्या वे भारतीय नहीं हैं। अगर किसी अधिकारी ने ऐसा कहा है तो यह बेहद आपत्तिजनक बात है। सीआईएसएफ ने तत्काल इसके लिए माफी मांगते हुए जांच शुरू करने का ऐलान किया है। पर यह सवाल भी है कि क्या सचमुच किसी अधिकारी ने उनसे ऐसी बात की या राज्य में अगले साल होने वाले चुनाव से पहले हिंदी विरोध को भड़काने का यह नया स्टंट है?

यह सवाल इसलिए है क्योंकि डीएमके नेता एमके स्टालिन ने नई शिक्षा नीति के बहाने हिंदी विरोध शुरू किया है। हालांकि इस नीति में कोई भी भाषा किसी भी राज्य के लिए अनिवार्य नहीं की गई है पर वे बहाना खोज कर हिंदी विरोध कर रहे हैं। उनकी बहन कनिमोझी ने नई शिक्षा नीति के अलावा एक और मुद्दा दे दिया है। हो सकता है कि वे सही कह रही हों पर यह भी हो सकता है कि किसी छोटी सी बात का बतंगड़ बना कर दोनों भाई-बहन अपना तमिल प्रेम और हिंदी विरोध दिखाना चाहते हों।

Leave a comment

Your email address will not be published.

five × 1 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
केदारनाथ में हिमस्खलन से श्रद्धालु भयभीत
केदारनाथ में हिमस्खलन से श्रद्धालु भयभीत