Hindu Muslim politics Chhath छठ पर भी हिंदू-मुस्लिम राजनीति
राजनीति| नया इंडिया| Hindu Muslim politics Chhath छठ पर भी हिंदू-मुस्लिम राजनीति

छठ पर भी हिंदू-मुस्लिम राजनीति

Hindu Muslim politics Chhath

उत्तर प्रदेश की तरह भारतीय जनता पार्टी दिल्ली में भी हिंदू-मुस्लिम की राजनीति पर उतर आई है। अगले साल होने वाले दिल्ली नगर निगम चुनावों से पहले भाजपा ने हिंदू-मुस्लिम का राजनीतिक दांव चला है। कोरोना महामारी की वजह से छठ पूजा सार्वजनिक रूप से नहीं किए जाने के दिल्ली सरकार के निर्देश के बहाने भाजपा ने यह राजनीति की है। गौरतलब है कि पूरे देश के लिए कोरोना प्रोटोकॉल केंद्रीय गृह मंत्रालय बनाता है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जो प्रोटोकॉल बनाया है उसके मुताबिक सार्वजनिक रूप से धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन नहीं हो सकता है। ऊपर से पिछले दिनों गृह मंत्रालय ने दो बार राज्यों को आगाह किया कि वे त्योहारों के सीजन में लापरवाही न बरतें। सो, दिल्ली सरकार ने बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोगों के लोक पर्व छठ के सार्वजनिक आयोजन की अनुमति नहीं दी। Hindu Muslim politics Chhath

Read also यूपी और किसान आंदोलन का चेहरा प्रियंका!

इसे लेकर दिल्ली प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने प्रदर्शन किया और अब एक चिट्ठी लिखी है, जिसमें दिल्ली सरकार के इस फैसले को मुस्लिम तुष्टिकरण से जोड़ दिया है। उन्होंने लिखा है कि मुसलमानों को खुश करने के लिए दिल्ली सरकार हिंदुओं के इस पर्व के सार्वजनिक आयोजन की मंजूरी नहीं दे रही है। सोचें, छठ पर्व का दूसरे किसी समुदाय से कोई लेना-देना नहीं है। इसमें कोई जुलूस नहीं निकलता है और न कोई शोर-शराबा होता है। बिहार में हिंदुओं का यह संभवतः एकमात्र त्योहार है, जिसमें कभी भी सांप्रदायिक तनाव की खबर नहीं आई है। ऊपर से सार्वजनिक आयोजन नहीं करने का दिशा-निर्देश केंद्र सरकार का है। लेकिन किसी हाल में दिल्ली नगर निगम चुनाव जीतने के लिए परेशान भाजपा नेता इसे भी हिंदू-मुस्लिम का रुप दे रहे हैं।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Taliban ने सरकार बनाने के पहले सुनाया फरमान, कहा- ‘हिजाब’ नहीं तो शिक्षा और रोजगार भी नहीं …
Taliban ने सरकार बनाने के पहले सुनाया फरमान, कहा- ‘हिजाब’ नहीं तो शिक्षा और रोजगार भी नहीं …