huzurabad seat Chandrashekhar Rao हुजूराबाद उपचुनाव से टीआरएस
राजरंग| नया इंडिया| huzurabad seat Chandrashekhar Rao हुजूराबाद उपचुनाव से टीआरएस

हुजूराबाद उपचुनाव से टीआरएस की नींद खुली

huzurabad seat Chandrashekhar Rao

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की नींद खुल गई है। अब तक वे दिल्ली की राजनीति में तटस्थ बने रहते थे। संसद में क्या हो रहा है या केंद्र सरकार क्या कर रही है इससे उनको मतलब नहीं होता है। लेकिन मंगलवार यानी 30 नवंबर को अचानक उनकी पार्टी सक्रिय हुई और संसद की कार्यवाही शुरू होते ही लोकसभा में हंगामा शुरू कर दिया। किसानों का मुद्दा उठा कर और न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी की मांग करते हुए टीआरएस के सांसदों ने कार्यवाही बाधित की। इससे पहले टीआरएस प्रमुख और मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव दिल्ली भी आए थे और चार दिन दिल्ली में रुक कर वापस लौटे। हालांकि इस दौरान वे प्रधानमंत्री से नहीं मिले। कहा गया कि उनको प्रधानमंत्री ने समय नहीं दिया हालांकि सरकार के सूत्रों के हवाले से खबर आई कि उन्होंने समय नहीं मांगा था। उन्होंने इससे पहले समय मांगा था और समय दिया भी गया था लेकिन वे मिलने नहीं पहुंचे। huzurabad seat Chandrashekhar Rao

Read also संसद की फिर जरूरत क्या है?

बहरहाल, वह कहानी जो भी हो, अभी स्थिति यह है कि पिछले दिनों तेलंगाना की हुजूराबाद विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुआ था, जिसमें प्रतिष्ठा की लड़ाई में भारतीय जनता पार्टी जीत गई। तेलंगाना राष्ट्र समिति के नेता और पांच बार के विधायक एटाला राजेंद्र ने टीआरएस छोड़ कर भाजपा ज्वाइन किया और उपचुनाव में उतरे थे। उनको हराने में मुख्यमंत्री और उनकी सरकार ने पूरी ताकत लगाई लेकिन राजेंद्र 24 हजार वोट के बड़े अंतर से जीत गए। कांग्रेस महज तीन हजार वोट हासिल कर पाई। इससे पहले हैदराबाद नगर निगम चुनाव में भी भाजपा ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था। भाजपा की मजबूती ने टीआरएस को मजबूर किया है कि वह भाजपा विरोध में विपक्ष के साथ मिल कर राजनीति करे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
नौकरी छोड़ कर सीधे चुनाव लड़ने पर रोक हो
नौकरी छोड़ कर सीधे चुनाव लड़ने पर रोक हो