nayaindia yogendra yadav पीके नहीं तो योगेंद्र यादव!
राजरंग| नया इंडिया| yogendra yadav पीके नहीं तो योगेंद्र यादव!

पीके नहीं तो योगेंद्र यादव!

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर की कांग्रेस पार्टी से बात नहीं बनी थी। वे कांग्रेस में शामिल होते होते रह गए और अब अपने गृह प्रदेश बिहार में राजनीति कर रहे हैं। उनके पार्टी में नहीं आने के बाद कांग्रेस ने उनके साथ काम कर चुके सुनील कनुगोलू को साथ जोड़ा और कर्नाटक सहित कुछ और राज्यों में काम दिया। अब खबर है कि देश के सबसे पुराने चुनाव विश्लेषकों में  से एक योगेंद्र यादव कांग्रेस के साथ जुड़ रहे हैं। वे कांग्रेस में शामिल नहीं होंगे और अपनी पार्टी स्वराज इंडिया भी बनाए रखेंगे लेकिन अगले कुछ दिनों तक कांग्रेस के साथ मिल कर काम करेंगे। वे भाजपा के खिलाफ मजबूत मोर्चा बनाने और विपक्षी एकता बनाने के लिए भी कांग्रेस के साथ काम करेंगे।

फिलहाल वे कांग्रेस के राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के लिए जुड़ रहे हैं। कांग्रेस की यह यात्रा सात सितंबर से शुरू होगी और राहुल गांधी सहित पार्टी के नेता साढ़े तीन हजार किलोमीटर पैदल चलेंगे। बताया जा रहा है कि योगेंद्र यादव ने खुद कांग्रेस से संपर्क किया और कहा कि वे इस यात्रा में कांग्रेस के साथ जुड़ना चाहते हैं और कांग्रेस की मदद करना चाहते हैं। कांग्रेस ने उनके प्रस्ताव को सहर्ष स्वीकार किया। इस यात्रा में वे क्या भूमिका निभाएंगे यह आने वाले दिनों में पता चलेगा लेकिन ऐसा लग रहा है कि आम आदमी पार्टी के साथ रहते और उसके बाद भी उनकी जो कटुता कांग्रेस से बनी थी उसे दोनों ने भुला दिया है। ध्यान रहे एक समय वे राहुल गांधी के बेहद करीबी थे लेकिन बाद में यह कहने लगे थे कि कांग्रेस को समाप्त हो जाना चाहिए।

Leave a comment

Your email address will not be published.

sixteen − 11 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
अंकिता हत्याकांड के आरोपी पुलिस रिमांड पर
अंकिता हत्याकांड के आरोपी पुलिस रिमांड पर