अंबानी के खिलाफ आय कर विभाग की सक्रियता

यह हैरान करने वाली बात है कि एक तरफ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी रोज केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमले करते हैं कि सरकार देश के 10-15 उद्योगपतियों के लिए काम करती है। यह आरोप लगाया जाता है कि केंद्र सरकार अंबानी-अडानी के लिए काम कर रही है। और दूसरी ओर केंद्र सरकार का आय कर विभाग अंबानी परिवार के खिलाफ पड़ा है। इस साल मार्च में अंबानी परिवार को आय कर विभाग से नोटिस भेजा गया था, जिसे लेकर खूब विवाद हुआ। नोटिस भेजने वाली अधिकारी का नागपुर तबादला भी हो गया। और उस महिला अधिकारी ने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिख कर सीबीडीटी के चेयरमैन की शिकायत भी की।

आय कर विभाग की ओर से भेजी गई नोटिस में मुकेश अंबानी के तीनों बच्चों का नाम बताया जा रहा है। आरोप है कि परिवार ने विदेश में जमा पैसे के बारे में सूचना नहीं दी और इस तरह से टैक्स चोरी की। विभाग इस मामले में दूसरे देशों से जानकारी ले रहा है। पिछले दिनों यूक्रेन में हुई एक बैठक में भारत ने अंबानी परिवार के आय कर विवाद से जुड़ी जानकारी कई देशों के साथ साझा की। कई टैक्स हैवन देशों जैसे स्विट्जरलैंड, लक्जेमबर्ग, सेंट लूसिया आदि के साथ जानकारी साझा की गई है। आय कर विभाग 90 दिन में जवाब का इंतजार कर रहा है पर आमतौर पर इसमें बहुत ज्यादा समय लग जाता है। फिर भी ऐसा लग रहा है कि आय कर विभाग देर से ही सही पर इस मामले में लेटर रोगेटरी, एलआर भी जारी करेगा। यह देश के सबसे बड़े उद्योगपति के लिए मुश्किल से ज्यादा शर्मिंदगी वाली बात होगी।

3 thoughts on “अंबानी के खिलाफ आय कर विभाग की सक्रियता

  1. Time changed situations changes we are not living in 1942 all frauds Will go under the carpet and one will enjoy and become billionaire in the world. Transparency is a must income only by proper means Will do. One must know now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares