पीएम की वेशभूषा पर भी नजर होगी

कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से इस बार लाल किले पर होने वाला स्वतंत्रता दिवस का समारोह कम अतिथियों के साथ होगा। बच्चे भी नहीं बुलाए जाएंगे। लेकिन बाकी कार्यक्रम की रूपरेखा पहले जैसी ही रह सकती है। प्रधानमंत्री का भाषण उससे जुड़े प्रोटोकॉल पहले की तरह होंगे। इस बार के प्रधानमंत्री के भाषण की थीम के साथ साथ सबकी नजर इस पर भी रहेगी कि उनकी वेशभूषा क्या होती है? ऐसा इसलिए है क्योंकि कोरोना वायरस के संकट के बीच प्रधानमंत्री ने बाल और दाढ़ी बढ़ाई है और अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर के भूमिपूजन व शिलान्यास के समय उनका पूरा गेटअप एक पारंपरिक हिंदू संत, संन्यासी की तरह का था।

इसलिए इसमें लोगों की दिलचस्पी है कि लाल किले पर उनका गेटअप कैसा होगा? वे कैसे कपड़े पहनेंगे और सबसे ज्यादा यह कि वे इस बार पगड़ी कैसी बांधेंगे? सोशल मीडिया में कई लोग सलाह दे रहे हैं कि वे दाढ़ी थोड़ी नुकीली कर लें और मराठी स्टाइल में पगड़ी बांधें तो शिवाजी महाराज का गेटअप बन सकता है। कई लोग गुरुदेव रविंद्रनाथ टैगोर जैसे गेटअप की बात कर रहे हैं। ध्यान रहे प्रधानमंत्री की पगड़ी हर बार बहुत खास होती है। इस बार बढ़ी हुई दाढ़ी और बाल की वजह से वे जो भी पगड़ी बांधेंगे, उससे उनका लुक बहुत ज्यादा प्रभावित होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares