राजरंग| नया इंडिया| India ranking pension systems अब पेंशन सिस्टम के इंडेक्स में भी पैंदे पर

अब पेंशन सिस्टम के इंडेक्स में भी पैंदे पर

अगर सोशल मीडिया और प्रचार पर यकीन करें तो भारत विश्व गुरू बनने और दुनिया का नेतृत्व करने की स्थिति में पहुंच गया है लेकिन दूसरी ओर वैश्विक आंकड़े बता रहे हैं कि भारत लगातार नीचे गिरता जा रहा है। दुनिया की संस्थाएं कोई भी क्षेत्र उठा कर किसी भी पैमाने पर आकलन कर रही है तो भारत की रेटिंग एकदम पैंदे में दिख रही है। पिछले दिनों ग्लोबल हंगर इंडेक्स यानी भुखमरी का सूचकांक जारी हुआ तो भारत 116 देशों की सूची में 101वें नंबर था। पिछले साल के मुकाबले भी भारत सात रेटिंग नीचे चला गया था। अब पेंशन सिस्टम की रेटिंग आई है, जिसमें दुनिया के देशों में लागू 43 पेंशन सिस्टम का आकलन किया गया, जिसमें भारत का पेंशन सिस्टम 40वें स्थान पर आया है। India ranking pension systems

Read also रामरहीमः हम तो डूब गए सनम

उम्रदराज होती आबादी के लिए पेंशन का सिस्टम सबसे जरूरी होता है ताकि उसकी सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित हो। भारत इस पैमाने पर सबसे नीचे के चार देशों में शामिल है। पिछले साल 39 देशों की सूची में 34वें स्थान पर था। यानी पिछले साल के मुकाबले भारत की रेटिंग में गिरावट हो गई है। भारत के नीचे सिर्फ फिलिपींस, अर्जेंटीना और थाईलैंड हैं। यह रेटिंग जारी करने वाली संस्था के मुताबिक भारत को एक सौ में से 43 के करीब अंक मिले हैं। इसके मुताबिक भारक में प्राइवेट पेंशन अरेंजमेंट  की कवरेज सिर्फ छह फीसदी है। भारत का 90 फीसदी वर्कफोर्स असंगठित क्षेत्र में काम करता है।

हंगर इंडेक्स, पेंशन इंडेक्स से पहले भारत प्रेस फ्रीडम, मानवाधिकार, लोकतंत्र आदि के इंडेक्स पर भी बहुत नीचे जा चुका है। हालांकि भारत सरकार इनमें से किसी बात को मानती नहीं है। वह वैश्विक संस्थाओं की सिर्फ उसी रेटिंग को स्वीकार करती है, जिसमें भारत को थोड़ा ऊपर दिखाया जाता है। जैसे कारोबार सुगमता के इंडेक्स में भारत की बढ़त दिखाई गई तो प्रधानमंत्री भी हर जगह उसका जिक्र करते हैं। यह अलग बात है कि कारोबार सुगमता का इंडेक्स तैयार करने वाली एजेंसी पर गंभीर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं, जिसकी जांच हो रही है। उसने पैसे लेकर चीन की रेटिंग ऊपर दिखाई थी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग

देश

विदेश

खेल की दुनिया

फिल्मी दुनिया

लाइफ स्टाइल

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
एक तू ही ‘सत्यवादी’ है ‘दारुये’ बाकी सब ‘झुटल्ले’