जोगी परिवार की राजनीति पर नजर

Must Read

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी के पास प्रचंड बहुमत है और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की लोकप्रियता भी अच्छी खासी है। सरकार को किसी बाहरी मदद की जरूरत नहीं है। तभी इस बात की ज्यादा चर्चा नहीं हो रही है पर जानकार सूत्रों का कहना है कि दिवंगत अजीत जोगी का परिवार कांग्रेस के साथ तार जोड़ने में लगा है। बताया जा रहा है कि जोगी की पत्नी रेणु जोगी चाहती हैं कि उनकी पार्टी सरकार का समर्थन करे और बदले मे उनको मंत्री बनाया जाए। हालांकि वे ऐसा कोई मोलभाव करने की स्थिति में नहीं हैं क्योंकि 90 सदस्यों की विधानसभा में कांग्रेस के पास 70 विधायक हैं। यानी सरकार के पास तीन-चौथाई बहुमत है। इसलिए कांग्रेस के नेता जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रहे हैं।

कांग्रेस के जानकार सूत्रों का कहना है कि पार्टी के नेता चाहते हैं कि रेणु जोगी और उनके पुत्र अमित जोगी अपनी पार्टी का विलय कांग्रेस में कर दें। इसके लिए दोनों तैयार नहीं हैं। ध्यान रहे जोगी की पार्टी को पिछले चुनाव में चार सीटें मिली थीं। चार सीटें और अच्छे खासे असर की वजह से जोगी परिवार को लग रहा है कि पार्टी का अलग अस्तित्व लंबे समय की राजनीति के लिए ज्यादा उपयुक्त है। वैसे भी राज्य में विधानसभा चुनाव के ढाई साल रह गए है। इस बीच यह भी कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और राज्य के प्रभारी पीएल पुनिया दोनों ही जोगी परिवार की पार्टी से किसी तरह का संबंध नहीं रखना चाहते हैं। पर हो सकता है कि दिल्ली से पार्टी आलाकमान के इशारे पर बात बढ़े।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

अब दिल्ली के लोग भी 15 जून से लगवा सकेंगे रूसी ‘Sputnik V’ वैक्सीन

नई दिल्ली । दिल्ली के लोगों के लिए अच्छी खबर है। दिल्ली में 18 साल के आयु वर्ग से...

More Articles Like This